Shani Dev: वर्तमान समय में इन राशियों पर है कर्मफलदाता शनि की दृष्टि, किन राशियों पर है साढ़े साती और ढैय्या; जानें,

शनि देव को कर्म फलदाता और न्याय का देवता कहा जाता है। वैदिक ज्योतिष में 27 नक्षत्र, 12 राशियां और 9 ग्रहों का वर्णन मिलता है। शनि देव को को भी नवग्रहों में स्थान प्राप्त है। शनि की जब साढ़े साती या ढैय्या किसी भी राशि पर आरंभ होती है, तो व्यक्ति को कई प्रकार के कष्टों का सामना करना पड़ता है।

वैदिक ज्योतिष में शनि देव को कर्म फलदाता और आयु प्रदाता बताया गया है। मान्यता है शनि देव कर्मों के हिसाब से फल प्रदान करते हैं। कुंभ राशि में शनि के राशि परिवर्तन करते ही दो राशि वालों पर शनि ढैय्या शुरू हो जाएगी, तो वहीं एक राशि पर साढ़ेसाती शुरू हो जाएगी।

शनि अपनी इन दशाओं में व्यक्ति को शिक्षा, जॉब, करियर, बिजनेस, दांपत्य जीवन, लव रिलेशन और सेहत से जुड़ी परेशानियां प्रदान करते हैं। यही कारण है कोई भी शनि देव को नाराज नहीं करना चाहता है हर कोई उनकी शुभ दृष्टि चाहता है। वर्तमान समय में शनि साढ़े साती और ढैया किन राशियों पर चल रही है, आइए जानते हैं-

शनि की साढ़े साती: वैदिक पंचांग के अनुसार साल 2022 में 1 जनवरी से लेकर 29 अप्रैल तक धनु, मकर और कुंभ वालों पर शनि साढ़ेसाती का प्रभाव रहेगा। ज्योतिष शास्त्र में शनि की चाल को बेहद धीमा बताया गया है। 29 अप्रैल को शनि के कुंभ राशि में प्रवेश करते ही मीन राशि वालों पर शनि साढ़ेसाती शुरू हो जाएगी जबकि धनु राशि वालों को इससे मुक्ति मिल जाएगी।

शनि की ढैय्या: मिथुन राशि और तुला राशि पर शनि की ढैय्या चल रही है। बता दें कि साल 2022 में 8 राशियों पर शनि देव की नजर रहेगी और 4 राशि वाले शनि की दशा से मुक्त रहेंगे। मेष, वृषभ, सिंह और कन्या राशि शनि की दशा से मुक्त रहेंगी।

शनि का राशि परिवर्तन 2022: वर्तमान में समय मकर राशि में गोचर कर रहे हैं। पंचांग के अनुसार 29 अप्रैल 2022 से शनि देव कुंभ राशि में गोचर करेंगे। मकर और कुंभ ये दोनों ही राशियां शनि देव की अपनी राशि मानी जाती हैं क्योंकि शनि इन राशियों के स्वामी ग्रह हैं।

शनि दोष मु​क्ति के लिए करें ये उपाय: मकर संक्रांति को स्नान के बाद शनि देव की पूजा करें। पूजा में काले तिल अर्पित करें। पूजा के बाद गरीब, जरूरतमंद लोगों को सरसों का तेल, काला तिल, तिल के लड्डू, गरम वस्त्र आदि दान करें। इससे शनि देव प्रसन्न होंगे और आपको आशीर्वाद प्रदान करेंगे। मकर संक्रांति के दिन चावल के दान का भी विशेष महत्व है।

\\\"स्वर्णिम
+91 120 4319808|9470846577

स्वर्णिम भारत न्यूज़ हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.

4 0 11

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा (जन्म 1968) स्वर्णिम भारत के संस्थापक-प्रकाशक , प्रधान संपादक और मेन्टम सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Laptops | Up to 40% off

मोबाइल ऐप डाउनलोड करे

मोबाइल ऐप डाउनलोड करे

स्वर्णिम भारत न्यूज़ के एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करे

और पढ़ें देश, दुनिया, महानगर, बॉलीवुड, खेल

और अर्थ जगत की ताजा खबरें