टॉप मोस्ट वांटेड जो कभी झपटमारी का काम किया करता था, जानिए कैसे बना गैंगस्टर,

देश की राजधानी दिल्ली व सटे राज्य हरियाणा में कई बड़े गैंगस्टर हुए, जिन्होंने अपने आतंक से पुलिस को खूब छकाया। लेकिन एक समय ऐसा भी आया जब उनका खौफ पुलिस का हौसला कम न कर सका और वे पकड़े गए। इन्हीं में से एक नाम था काला जठेड़ी का। काला का असली नाम संदीप है और लोग उसे काला जठेड़ी के नाम से जानते हैं। एक वक्त काला का नाम पहलवान सुशील कुमार से भी जुड़ा था, जब उन्होंने काला से खतरा होने की बात कही थी।

हरियाणा के सोनीपत के रहने वाले काला का दूसरा नाम संदीप है। शुरू से ही बड़े शौक वाला काला अपराधियों की संगत में आ गया था। काला ने घर से पैसे मांगे तो नहीं मिले। तब उसने झपटमारी का काम शुरू किया। इसी काम से उसने खर्चे पाटने की शुरुआत की थी। साल 2004 में पहली बार काला पर दिल्ली में मुकदमा दर्ज हुआ।

काला, झपटमारी के बाद बड़ी गैंग्स में शामिल हुआ और हत्या, लूटपाट और हत्या की साजिश जैसे जुर्मों को अंजाम देने लगा। इसके बाद उसने खुद की गैंग बना ली और जबरन वसूली और संपत्तियों के विवाद को पैसे लेकर सुलझाने लगा था। 15-16 साल तक बढ़ते जुर्मों के साथ उस पर इनाम भी बढ़ता गया। दिल्ली पुलिस ने अब उस पर एक लाख का इनाम कर दिया था। साल 2021 तक काला, जुर्म की दुनिया में इतना बड़ा नाम हो चुका था कि उस पर हरियाणा सरकार ने सात लाख का इनाम रखा हुआ था।

काला के नाम का खौफ इतना था कि रेसलर सुशील कुमार ने गिरफ्तारी के बाद भी जान का खतरा बताया था। वहीं सागर हत्याकांड के बाद सुशील ने सोनू महाल के मामा संदीप काला को फोन किया था। दरअसल, 4-5 मई की रात में सागर धनखड़ के साथ मारपीट और हत्या मामले में काला का भांजा सोनू महाल भी मौजूद था। काला, पंजाब-राजस्थान के चर्चित लॉरेंस विश्नोई के साथ भी जुड़ा हुआ था। एक समय पर काला को लॉरेंस गैंग का सरदार भी बताया जाता था।

गुरुग्राम पुलिस साल 2020 में फरवरी के महीने में संदीप काला को फरीदाबाद अदालत में पेशी के लिए आई थी, लेकिन पेशी के बाद फ़िल्मी अंदाज में काला के गुर्गों ने पुलिस वैन पर गोलियां बरसाकर उसे छुड़ा लिया था। तब इस मामले में केस भी दर्ज हुआ था। पहले तो यह सामने आया था कि, वह फरारी के दौरान दुबई और मलेशिया में भी रहा था लेकिन उसी के एक गुर्गे ने पकड़े जाने पर बताया था कि वह हरियाणा में ही था।

\\\"स्वर्णिम
+91 120 4319808|9470846577

स्वर्णिम भारत न्यूज़ हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.

4 0 55

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा (जन्म 1968) स्वर्णिम भारत के संस्थापक-प्रकाशक , प्रधान संपादक और मेन्टम सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Laptops | Up to 40% off

मोबाइल ऐप डाउनलोड करे

मोबाइल ऐप डाउनलोड करे

स्वर्णिम भारत न्यूज़ के एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करे

और पढ़ें देश, दुनिया, महानगर, बॉलीवुड, खेल

और अर्थ जगत की ताजा खबरें