चिकित्सा में गतिरोध,

चिकित्सा विज्ञान के परास्नातक पाठ्यक्रम यानी पीजी में दाखिले के लिए काउंसिलिंग प्रक्रिया बाधित होने और उसके विरोध में ज्यादातर डाक्टरों के हड़ताल पर चले जाने की वजह से दिल्ली सहित कई शहरों में चिकित्सा सेवाएं प्रभावित हुई हैं। हालांकि हड़ताल पर उतरे डाक्टरों से केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने बातचीत की और उनसे काम पर लौटने की अपील की, मगर फिलहाल उस अपील का कोई सकारात्मक असर नजर नहीं आ रहा। डाक्टर अभी अपनी हड़ताल जारी रखने की घोषणा कर चुके हैं। मंगलवार को जब डाक्टर शिक्षामंत्री के आवास का घेराव करने जाने की तैयारी कर रहे थे, तब दिल्ली पुलिस ने उन पर लाठियां बरसा दीं और बारह डाक्टरों के खिलाफ मुकदमे दर्ज कर दिए। इससे डाक्टर और नाराज हो गए। हालांकि स्वास्थ्य मंत्री ने भरोसा दिलाया है कि सरकार जल्दी ही इस समस्या का समाधान निकालने का प्रयास कर रही है। सर्वोच्च न्यायालय में अगली सुनवाई पर इसका समाधान निकाल लिया जाएगा। मगर डाक्टरों को सरकार के इस आश्वासन पर भरोसा नहीं बन पा रहा। दरअसल, यह काउंसिलिंग अक्तूबर में ही होनी थी, मगर सरकार के बनाए नए नियम के तहत अन्य पिछड़ा वर्ग और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए आरक्षित सीटों का पैमाना स्पष्ट न होने की वजह से इसे रोक दिया गया।

परास्नातक पाठ्यक्रमों में दाखिले की प्रक्रिया रुक जाने से अस्पतालों में काम करने वाले डाक्टरों को असुविधा हो रही है, क्योंकि वे छात्रों की मदद से ही चिकित्सा सेवाएं ठीक से दे पाते हैं। इसलिए काउंसिलिंग में हो रही देर को लेकर डाक्टरों का संगठन भी छात्रों के समर्थन में उतर आया। पिछले महीने यह संगठन धरने पर बैठा था, पर सरकार ने भरोसा दिलाया तो उन्होंने आंदोलन वापस ले लिया। फिर जब काउंसिलिंग में देर होने लगी, तो डाक्टर फिर से आंदोलन पर उतर आए हैं। दरअसल, सर्वोच्च न्यायालय ने सरकार से पूछा है कि उसने किस आधार पर अन्य पिछड़ा वर्ग और आर्थिक रूप से कमजोर दोनों वर्गों की सालाना आमदनी का पैमाना तय किया है। क्या इसके लिए कोई सर्वेक्षण कराया गया था। मगर इसका सरकार के पास कोई संतोषजनक जवाब नहीं है। इसलिए डाक्टरों को भरोसा नहीं बन पा रहा कि सर्वोच्च न्यायालय में अगली तारीख पर भी कोई फैसला हो पाएगा।

\\\"स्वर्णिम
+91 120 4319808|9470846577

स्वर्णिम भारत न्यूज़ हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.

4 0 25

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा (जन्म 1968) स्वर्णिम भारत के संस्थापक-प्रकाशक , प्रधान संपादक और मेन्टम सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Laptops | Up to 40% off

मोबाइल ऐप डाउनलोड करे

मोबाइल ऐप डाउनलोड करे

स्वर्णिम भारत न्यूज़ के एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करे

और पढ़ें देश, दुनिया, महानगर, बॉलीवुड, खेल

और अर्थ जगत की ताजा खबरें