पंजाब: गुड बाय कांग्रेस...सुनील जाखड़ ने पार्टी को कहा अलविदा, सिद्धू का ट्वीट आया

स्टोरी हाइलाइट्स
  • जाखड़ को 2 सालों के लिए पार्टी से सस्पेंड किया गया था
  • विधानसभा चुनाव स

4 1 14
Read Time5 Minute, 17 Second

स्टोरी हाइलाइट्स
  • जाखड़ को 2 सालों के लिए पार्टी से सस्पेंड किया गया था
  • विधानसभा चुनाव से ही मनमुटाव की स्थिति थी

पंजाब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुनील जाखड़ ने पार्टी को गुड बाय कह दिया है. पार्टी और सुनील जाखड़ के बीच पंजाब विधानसभा चुनाव से ही मनमुटाव की स्थिति बनी हुई थी. शनिवार को पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने फेसबुक लाइव करके पार्टी छोड़ने का ऐलान किया.

उन्होंने गुड बाय कांग्रेस कहा और नसीहत दी कि इस तरीके से चिंतन शिविर लगाने से कुछ नहीं होगा. उन्होंने अपना दर्द जाहिर करते हुए कहा कि नोटिस उन लोगों को जारी करना चाहिए था जिन्होंने कांग्रेस का नुकसान किया है.

चिंतन शिविर सिर्फ औपचारिकता था

फेसबुक लाइव के दौरान सुनील जाखड़ ने कहा कि कांग्रेस काचिंतन शिविर सिर्फ औपचारिकता था. कांग्रेस को चिंता शिविर की जरूरत है. यूपी चुनाव में 390 सीटों पर कांग्रेस पार्टी को दो हजार वोट मिले. गोवा-उत्तराखंड में सरकार के खिलाफ विरोध के बाद भी कांग्रेस जीत नहीं पाई. मैं मानता हूं कि कांग्रेस को इस पर सोचने की जरूरत है. इन खामियों के लिए मैं सिर्फ हाईकमान को जिम्मेदारी नहीं ठहरा रहा, इसमें और की भी कमियां रही हैं.

उन्होंने लाइव के दौरान राहुल की जमकर तारीफ की. उन्होंने राहुल गांधी कोचापलूसों से सावधान रहते हुए पार्टी की कमान अपने हाथों में लेने की नसीहत दी. इसके अलावा जाखड़ ने पंजाब प्रभारी रहे हरीश रावत पर निशाना साथा. जाखड़ अंबिका सोनी के "पंजाब का सीएम हिंदू होना चाहिए" वाले बयान पर भी जमकर बरसे.

जाखड़ के बचाव में आए सिद्धू

इधर, कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने सुनील जाखड़ का बचाव किया है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी को सुनील जाखड़ को नहीं छोड़ना चाहिए. वो कांग्रेस पार्टी की एक संपत्ति है. किसी भी मतभेद को मेज पर हल किया जा सकता है.

2 साल के लिए पार्टी ने किया था सस्पेंड

बता दें कि AICC के अनुशासनात्मक पैनल ने 26 अप्रैल को सुनील जाखड़ को 2 सालों के लिए पार्टी से सस्पेंड कर दिया था. उन्होंने पंजाब पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की आलोचना की थीऔर पंजाब में आम आदमी पार्टीसे कांग्रेस की हार के बाद उन्हें पार्टी के लिए जिम्मेदार करार दिया था.


\\\"स्वर्णिम
+91 120 4319808|9470846577

स्वर्णिम भारत न्यूज़ हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा (जन्म 1968) स्वर्णिम भारत के संस्थापक-प्रकाशक , प्रधान संपादक और मेन्टम सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Laptops | Up to 40% off

अगली खबर

Maruti Ertiga vs Kia Carens: कीमत, फीचर्स और माइलेज में कौन है ज्यादा बेहतर MPV, पढ़ें कंपेयर रिपोर्ट

कार सेक्टर का एमपीवी सेगमेंट चुनिंदा कारों वाला है लेकिन इस सेगमेंट को बड़ी संख्या में पसंद किया जाता है। इस सेगमेंट में कम बजट से लेकर हाई रेंज तक की एमपीवी कारें मौजूद हैं।

अगर आप भी कम ब

आपके पसंद का न्यूज

Subscribe US Now