मार्च में घाटे के बाद टाटा के शेयर में करीब 9 फीसद की तेजी, हाई रिटर्न देने की उम्‍मीद; जानें क्‍या कहते हैं एक्‍सपर्ट

मार्च में टाटा मोटर्स के शेयर में गिरावट देखी गई थी, जिस कारण इसमें पैसा निवेश करने वाले शेयरधारकों को नुकसान का सामना करना पड़ा था। वहीं 13 मई को शुरुआती कारोबार में करीब 9 फीसदी की उछाल देखी गई है

4 1 41
Read Time5 Minute, 17 Second

मार्च में टाटा मोटर्स के शेयर में गिरावट देखी गई थी, जिस कारण इसमें पैसा निवेश करने वाले शेयरधारकों को नुकसान का सामना करना पड़ा था। वहीं 13 मई को शुरुआती कारोबार में करीब 9 फीसदी की उछाल देखी गई है। मार्च में समाप्त तिमाही में घरेलू वाहन निर्माता का शुद्ध घाटा 1,033 करोड़ रुपये तक सीमित होने के बाद कंपनी के शेयरों में बीएसई पर 401 रुपये के शुरुआती सौदे में करीब 9 प्रतिशत की वृद्धि हुई, जबकि एक साल पहले की अवधि में यह 7,605 करोड़ रुपये था।

कंपनी के राजस्व में 11 प्रतिशत से अधिक साल दर साल गिरावट देखी गई है, जो पिछले साल 78,439 करोड़ रुपये थी। कंपनी ने एक बयान में कहा गया है कि भू-राजनीतिक और महंगाई दर के बीच भी मांग मजबूत बनी हुई है। आपूर्ति की स्थिति में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है, जबकि कमोडिटी मुद्रास्फीति ऊंचे स्तर पर रहने की संभावना है। कंपनी का कहना है कि साल के अंत में गिरावट के बीच सुधार की उम्‍मीद है।

क्‍यों सुधार की उम्‍मीद
ऐसा इसलिए भी माना जा रहा है, क्‍योंकि चीन COVID-19 और सेमीकंडक्टर आपूर्ति में सुधार हो सकता है। वहीं कपंनी का कहना है कि वित्त वर्ष 2023 में मजबूत EBIT (ब्याज और कर से पहले की कमाई) में सुधार और वित्त वर्ष 2024 तक शुद्ध ऑटो ऋण-मुक्त होने के लिए मुक्त नकदी प्रवाह देने का लक्ष्य रखा गया है।

निवेशकों को क्‍या करना चाहिए
ब्रोकरेज प्रभुदास लीलाधर ने बताया कि टाटा मोटर्स पर सकारात्‍मक नजरिया बनाए रखना चाहिए। क्‍योंकि इसके बढ़ते हुए ईवी बाजार और एसयूवी की डिमांड मार्केट को और ऊपर लेकर जा सकती है। इसके साथ ही निवेशकों को बढ़ती बाजार मांग के अनुसार अच्‍छा रिटर्न मिल सकता है। ब्रोकरेज को उम्मीद है कि वित्त वर्ष 2023 के पहले क्‍वार्टर पर दबाव होगा, हालांकि, FY23 के नए उत्पादों, मांग की गति और मूल्य पास-ऑन से लाभ हासिल होगा। उनका मानना है कि निवेशकों को इसमें वित्त वर्ष 2024 तक निवेशित रहना चाहिए।

वहीं एमके का मानना है कि JLR की ऑर्डर बुक 168,000 यूनिट्स पर मजबूत है, जबकि डीलर इन्वेंटरी कम है। ऐसे में जब चिप की आपूर्ति में सुधार होगा तो 20 प्रतिशत की मजबूती मिल सकती है। वहीं वित्त वर्ष 2024 ऐसे में इसके शेयर में मजबूती होने की उम्‍मीद है।

टाटा मोटर्स के शेयर प्राइज
ब्रोकिंग हाउस सीएलएसए ने टाटा मोटर्स की रेटिंग को बिकवाली से अंडरपरफॉर्म करने के लिए अपग्रेड किया है और टारगेट प्राइस को 392 रुपये प्रति शेयर से बढ़ाकर 411 रुपये कर दिया है। इसका घरेलू कारोबार मजबूत था।

\\\"स्वर्णिम
+91 120 4319808|9470846577

स्वर्णिम भारत न्यूज़ हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा (जन्म 1968) स्वर्णिम भारत के संस्थापक-प्रकाशक , प्रधान संपादक और मेन्टम सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Laptops | Up to 40% off

अगली खबर

चीन को पछाड़ भारत का सबसे बड़ा ट्रेडिंग पार्टनर बना अमेरिका, हुआ 119 अरब डॉलर का कारोबार

भारत अब अमेरिका का शीर्ष व्यापारिक भागीदार बन गया है और यह दोनों देशों के बीच मजबूत आर्थिक संबंधों को भी दर्शाता है। वाणिज्य मंत्रालय के 2021-22 के आंकड़ों के अनुसार अमेरिका और भारत के बीच द्विपक्षी

आपके पसंद का न्यूज

Subscribe US Now