नीतीश का कुशवाहा को करारा जवाब, बोले- वो BJP के संपर्क में, जब चाहें चले जाएं

Bihar Politics: बिहार की सियासत में उपेंद्र कुशवाहा इस समय हॉट टॉपिक बने हुए हैं. दिल्ली के एम्स में भर्ती होने और अस्पताल में बीजेपी के नेताओं से मिलने के बाद से उनके भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने की अटकलें तेज हो चुकी हैं. कसायों के बीच

4 1 9
Read Time5 Minute, 17 Second

Bihar Politics: बिहार की सियासत में उपेंद्र कुशवाहा इस समय हॉट टॉपिक बने हुए हैं. दिल्ली के एम्स में भर्ती होने और अस्पताल में बीजेपी के नेताओं से मिलने के बाद से उनके भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने की अटकलें तेज हो चुकी हैं. कसायों के बीच नीतीश कुमार की जनता दल युनाइटेड और उपेंद्र कुशवाहा की तरफ से जमकर बयानबाजी देखने को मिल रही है. उप्रेंद्र कुशवाहा द्वारा नीतीश कुमार को कमजोर बताए जाने के बाद अब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश ने उन पर करारा प्रहार किया है. सीएम नीतीश ने कहा कि जेडीयू संसदीय बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा खुद भारतीय जनता पार्टी के संपर्क में हैं और वो हम पर यानी जेडीयू पर आरोप लगा रहे हैं.

नीतीश कुमार ने उपेंद्र कुशवाहा के लिए दो टुक जवाब देते हुए कहा कि उन्हें जब बीजेपी में जाने का मन हो चले जाएं. नीतीश की ये नसीहत उपेंद्र कुशवाहा की उस बयान के बाद आई है जिसमें उन्होंने कहा कि था कि नीतीश कुमार लगातार कमजोर हो रहे हैं. जेडीयू को लगातार कमजोर किया जा रहा है. उनका सीधा इशारा आरजेडी की तरफ था. उप्रेंद्र कुशवाहा ने कहा था कि पहले जब नीतीश कुमार अकेले हुए तो हमने उनका साथ दिया था. उन्होंने ये भी कहा था कि आज के समय में नीतीश कुमार और मेरी (उपेंद्र कुशवाहा) की हालत एक जैसी है, लेकिन आज हमारे साथ कोई नहीं है.

पटना के एएन कॉलेज में एक कार्यक्रम के दौरान नीतीश कुमार ने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा द्वारा कही गई कमजोर होने वाली बात फालतू है. उन्हें कुछ पता नहीं है. मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले जेडीयू के 47 लाख सदस्य थे जो बढ़कर अब 70 लाख हो गए हैं. इससे पार्टी मजबूत हुई है.

नीतीश कुमार ने उपेंद्र कुशवाहा पर आरोप लगाते हुए कहा कि वो खुद दूसरी पार्टी के संपर्क में हैं और अपने ही साथियों पर आरोप-प्रत्यारोप का खेल खेल रहे हैं. सीएम ने कहा कि उन्हें जहां जाना हों जाएं, जो बोलना हो बोलें, कोई फर्क नहीं पड़ता.

दरअसल, उपेंद्र कुशवाहा पार्टी द्वारा साइड लाइन किए जाने को लेकर परेशान हैं. यही कारण है कि वो लगातार जेडीयू की खराब स्थिति बताते हुए आरजेडी पर निशाना साध रहे हैं. उन्होंने यहां तक कहा था कि जेडीयू और आरजेडी के बीच डील हुई थी, लेकिन उन्हें इसके बारे में नहीं पता कि किस बात पर हुई थी. हालांकि, उनके तीखे बयानों के बीच नीतीश कुमार ने साफ कर दिया है कि उन्हें बीजेपी में जाना हो तो जा सकते हैं.

भारत की पहली पसंदZeeHindi.com- अब किसी और की ज़रूरत नहीं

स्वर्णिम भारत न्यूज़ हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा (जन्म 1968) स्वर्णिम भारत के संस्थापक-प्रकाशक , प्रधान संपादक और मेन्टम सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Laptops | Up to 40% off

अगली खबर

कुश्ती महासंघ विवाद में नया मोड़, इस टूर्नामेंट से हटे विनेश-बजरंग समेत 8 पहलवान

आपके पसंद का न्यूज

Subscribe US Now