वेस्ट बैंक में अल-जजीरा की पत्रकार की मौतः रेड कवरेज के बीच चेहरे पर लगी गोली, इजराइली सैनिकों पर हमले का आरोप

इजरायल के कब्जे वाले वेस्ट बैंक में न्यूज चैनल अल-जजीरा के महिला पत्रकार शिरीन अबू अक्लेह की गोली लगने से मौत हो गई। अल-जजीरा ने अपनी रिपोर्टर की मौत के लिए इजराइली सेना को जिम्मेदार ठहराया है। मशहू

4 1 44
Read Time5 Minute, 17 Second

इजरायल के कब्जे वाले वेस्ट बैंक में न्यूज चैनल अल-जजीरा के महिला पत्रकार शिरीन अबू अक्लेह की गोली लगने से मौत हो गई। अल-जजीरा ने अपनी रिपोर्टर की मौत के लिए इजराइली सेना को जिम्मेदार ठहराया है। मशहूर फिलस्तीनी पत्रकार शिरीन अबू अक्लेह अरबी भाषी चैनल की एक जानी-मानी रिपोर्टर थीं। वहीं, पत्रकार की मौत के मामले पर इजराइली सेना का कहना है कि इसकी जांच की जा रही है।

अल-जजीरा की एक रिपोर्ट के मुताबिक, फिलिस्तीनी स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि इजरायली सेना ने कब्जे वाले वेस्ट बैंक में वरिष्ठ महिला रिपोर्टर की गोली मारकर हत्या कर दी। 51 वर्षीय शिरीन अबू अक्लेह, जेनिन शरणार्थी शिविर पर इजरायली सेना की छापेमारी को कवर कर रही थीं, उस वक्त एक गोली उनके चेहरे पर लग गई थी। एक अन्य फिलिस्तीनी पत्रकार अली अल-समौदी भी घायल हो गया था, लेकिन उस रिपोर्टर की हालत स्थिर बताई जा रही है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि रिपोर्टर इजरायली गोलीबारी की चपेट में आ गए। घटना के वीडियो फुटेज में अबू अक्लेह को नीले रंग की जैकेट पहने देखा जा सकता है, जिस पर ‘प्रेस’ शब्द लिखा हुआ है। फिलिस्तीन ने पत्रकार की मौत के लिए इजरायल को सीधे तौर पर जिम्मेदार ठहराया। वहीं, कतर के सहायक विदेश मंत्री लोलवाह अल खातेर ने बुधवार को कहा, अल जजीरा के रिपोर्टर शिरीन अबू अक्लेह को ‘चेहरे पर’ गोली मारी गई थी, उस वक्त महिला पत्रकार ने ‘प्रेस’ लिखा जैकेट पहना था।

मुनीर नेसेबा अल-कुद्स विश्वविद्यालय में अंतरराष्ट्रीय कानून के प्रोफेसर भी हैं, उन्होंने कहा, “हर बार जब कथित युद्ध अपराधों, मानविकी के खिलाफ अपराध या कब्जे वाले क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय कानून के उल्लंघन के बारे मे विशिष्ट घटनाओं के बारे में शिकायतें होती हैं, तो इजरायली सेना इसकी जांच को गंभीरता से नहीं लेती है।

महिला पत्रकार की मौत पर इजराइली सेना ने कहा कि जेनिन में उनकी फोर्स पर हमला किया गया और विस्फोटकों से निशाना बनाया गया, इसके बाद सेना ने जवाबी कार्रवाई की। सेना ने एक बयान में कहा कि वह महिला पत्रकार की गोली लगने से हुई मौत के मामले की जांच कर रही है। साथ ही उनकी तरफ से यह भी कहा गया है कि हो सकता है पत्रकार फिलस्तीनी बंदूकधारियों की गोलीबारी की चपेट में आ गई हों।

\\\"स्वर्णिम
+91 120 4319808|9470846577

स्वर्णिम भारत न्यूज़ हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा (जन्म 1968) स्वर्णिम भारत के संस्थापक-प्रकाशक , प्रधान संपादक और मेन्टम सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Laptops | Up to 40% off

अगली खबर

NBCC India Recruitment 2022: जीएम, एजीएम समेत अन्य पदों पर निकली भर्ती, जानें आवश्यक योग्यता

NBCC India Recruitment 2022: एनबीसीसी इंडिया लिमिटेड (National Buildings Construction Corporation) ने जीएम, एजीएम समेत अन्य पदों पर भर्ती निकाली है। इसके लिए आधिकारिक वेबसाइट पर नोटिफिकेशन जारी किया

आपके पसंद का न्यूज

Subscribe US Now