जब शारजाह में इंडियन क्रिकेट टीम के ड्रेसिंग रूम में जा पहुंचा था दाऊद इब्राहिम, खिलाड़ियों को दिया था ऐसा ऑफर

कभी मुंबई अंडरवर्ल्ड में दशकों तक खौफ का दूसरा नाम रहा दाऊद

4 1 45
Read Time5 Minute, 17 Second

कभी मुंबई अंडरवर्ल्ड में दशकों तक खौफ का दूसरा नाम रहा दाऊद इब्राहिम आज न जाने किस मांद में छिपा हुआ है? लेकिन कभी वह क्रिकेट देखने का भी शौकीन था। इसके अलावा उसका नाम कई बार मैच फिक्सिंग और फिक्सिंग के अन्य काले धंधों से भी जुड़ा। हालांकि, आज बात उस किस्से की जब अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम 1987 में शारजाह में भारतीय ड्रेसिंग रूम में जा पहुंचा था।

साल 1987 में शारजाह में भारतीय ड्रेसिंग रूम में दाऊद के पहुंचने की बात पर दो पूर्व भारतीय कप्तानों ने भी मुहर लगाई थी। कई सालों बाद कपिल देव और दिलीप वेंगसरकर ने भी स्वीकार किया था कि उन्हें बाद में पता चला था कि शारजाह में भारतीय ड्रेसिंग रूम में व्यवसायी के रूप में पहुंचा शख्स कोई और नहीं बल्कि डॉन दाऊद इब्राहिम था।

इस घटना पर दिलीप वेंगसरकर ने जलगांव में एक समारोह में बात करते हुए कहा था कि दाऊद ने कहा था कि ‘यदि आप लोग टूर्नामेंट जीतते हैं, तो मैं आप सभी को एक टोयोटा कार दूंगा।” वेंगसरकर ने आगे कहा कि ‘प्रस्ताव’ को खिलाड़ी और पूरी टीम के द्वारा अस्वीकार कर दिया गया था। वहीं, पूर्व कप्तान कपिल देव ने भी इस बात की पुष्टि की कि दाऊद भारतीय ड्रेसिंग रूम में गया था।

एक बातचीत में कपिल ने कहा था कि, “हां, मुझे याद है कि एक शख्स शारजाह में हमारे ड्रेसिंग रूम में आया जो खिलाड़ियों से बात करना चाहता था। लेकिन मैंने उसके खिलाड़ियों व टीम प्रबंधन के लोगों से मिलने देने के प्रस्ताव को ठुकरा दिया था।” इसके अलावा, बीसीसीआई के पूर्व सचिव जयवंत लेले ने भी अपनी पुस्तक ‘आई वाज़ देयर – मेमोयर्स ऑफ़ ए क्रिकेट एडमिनिस्ट्रेटर’ में भी इस घटना का उल्लेख किया था।

अपनी किताब के एक अध्याय में उन्होंने लिखा था कि ड्रेसिंग रूम में दुबई के व्यवसायी के रूप में पहुंचे दाऊद ने कहा था कि “यदि भारतीय टीम यहां चैंपियन बनती है तो मैं अधिकारियों सहित टीम के प्रत्येक सदस्य को भारत में उनके दरवाजे पर टोयोटा कार भेंट करूंगा।” दाऊद ने कथित तौर पर जयवंत लेले और भारत के तत्कालीन टीम मैनेजर ज्ञानेश्वर अगाशे को शारजाह में धनी उद्योगपति से मिलने के लिए भी कहा था।

जयवंत लेले ने लिखा था कि लंबे अंतराल के बाद, हमें पता चला कि 1987 में शारजाह में जो व्यक्ति हमसे मिला था, वह दाऊद इब्राहिम था। जो 1993 में हुए मुंबई बम धमाकों का मास्टरमाइंड था।” बता दें कि, उस साल शारजाह कप में भारत टूर्नामेंट हार गया था। ऑस्ट्रेलिया को उच्च रन रेट के आधार पर चैंपियन घोषित किया गया था। जबकि ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और भारत के पॉइंट्स बराबर थे।

\\\"स्वर्णिम
+91 120 4319808|9470846577

स्वर्णिम भारत न्यूज़ हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा (जन्म 1968) स्वर्णिम भारत के संस्थापक-प्रकाशक , प्रधान संपादक और मेन्टम सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Laptops | Up to 40% off

अगली खबर

नेपाल का लापता विमान कोवांग में हादसे का शिकार, रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी सेना

Nepal Plane Crash Latest Update: नेपाल के तारा एयरलाइन का 9 एनएईटी डबल इंजन वाला लापता विमान मस्टैंग के कोवांग गांव में मिला है. नेपाल हवाई अड्डे के अधिकारी ने बताया कि विमान खराब मौसम के चलते कोवाग गांव में क्रैश हुआ. विमान के क्रैश की पुष्ट

आपके पसंद का न्यूज

Subscribe US Now