Uric Acid: यूरिक एसिड बढ़ने से हड्डियों में होता है दर्द? गर्म पानी के साथ इन चीज़ों के सेवन से तुरंत मिल सकती है राहत!

Uric Acid: यूरिक एसिड प्यूरिन युक्त खाद्य पदार्थों के पाचन से निकलने वाला एक प्राकृतिक वेस्ट प्रोडक्ट है। यह हमारे शरीर की कोशिकाओं में भी बनता है। जब हमारे शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है

4 1 16
Read Time5 Minute, 17 Second

Uric Acid: यूरिक एसिड प्यूरिन युक्त खाद्य पदार्थों के पाचन से निकलने वाला एक प्राकृतिक वेस्ट प्रोडक्ट है। यह हमारे शरीर की कोशिकाओं में भी बनता है। जब हमारे शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है तब जोड़ों में ये यूरिक एसिड क्रिस्टल के रूप में जमा होने लगता है जिसके बाद गाउट यानि गठिया की समस्या उत्पन्न होती है।

यूरिक एसिड में जोड़ों में बहुत तेज दर्द होता है और सूजन हो जाती है। हाई यूरिक एसिड के कारण हमें किडनी, कुछ तरह के कैंसर जैसे समस्याएं भी हो सकती है। हाई यूरिक एसिड को कुछ घरेलू उपायों द्वारा आसानी से नियंत्रित किया जा सकता है।

गर्म पानी के साथ सेब का सिरका और नींबू: अगर आपके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है तो सेब का सिरका, नींबू और हल्दी का घोल बहुत फायदा पहुंचाते हैं। इन सभी को गर्म पानी के साथ मिलाकर पीना यूरिक एसिड की मात्रा को तुरंत कम करता है। कई अध्ययनों में भी इस बात का खुलासा हो चुका है। इसके लिए आप एक गिलास गर्म पानी में आधा नींबू निचोड़ लें, उसमें दो चम्मच हल्दी डाल दें। फिर इस मिश्रण में एक चम्मच सेब का सिरका मिलाकर उसे पी लें। इस मिश्रण को आप दिन में दो या तीन बार पी सकते हैं।

अजवायन: अजवायन को यूरिक एसिड कम करने में एक बेहतर घरेलू उपाय माना जाता है। इसके दानों का इस्तेमाल यूरिनरी इंफेक्शंस को ठीक करने के लिए भी किया जाता है।

सेब: हाई यूरिक एसिड से ग्रस्त लोगों को सेब खाने की सलाह दी जाती है। सेब में मैलिक एसिड पाया जाता है, जो यूरिक एसिड को कम करता है। डॉक्टर्स भी ये सलाह देते हैं कि हमें हर रोज एक सेब खाना चाहिए, ये कई बीमारियों से हमें बचाता है।

केला: यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए केला खाना बहुत बढ़िया माना जाता है। इसमें पोटैशियम होता है जो हमारे उत्तकों और शरीर के दूसरे अंगों को सही ढंग से काम करने के लिए प्रेरित करता है। लेकिन ज़्यादा केला खाना भी यूरिक एसिड के लिए ठीक नहीं होता है। इसलिए हर रोज एक केला खाएं, फायदा होगा।

बता दें कि शरीर में यूरिक एसिड कई वजहों से बढ़ सकता है, जिसमें खराब लाइफस्टाइल और गलत खानपान को सबसे बड़ी वजहों में से एक माना जाता है। रेड मीट, सी फूड, दाल, राजमा, पनीर, चावल, शराब आदि में प्यूरीन की अधिक मात्रा होती है। इनका ज्यादा सेवन करने से प्यूरिन की मात्रा अधिक हो जाती है और किडनी इसे पचा नहीं पाती।

\\\"स्वर्णिम
+91 120 4319808|9470846577

स्वर्णिम भारत न्यूज़ हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा (जन्म 1968) स्वर्णिम भारत के संस्थापक-प्रकाशक , प्रधान संपादक और मेन्टम सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Laptops | Up to 40% off

अगली खबर

मंदिर मस्जिद विवाद के बीच बोले बदरुद्दीन अजमल- खामोश बैठ अब न देखा जाए तमाशा, ये अल्लाह की दो अंगुलियों के बीच है कि…

उत्तर प्रदेश के देवबंद में हो रही जमीयत उलेमा-ए-हिंद की बैठक में AIUDF के अध्यक्ष बदरुद्दीन अजमल ने कहा कि अब खामोश बैठकर तमाशा देखने का वक्त नहीं है। रविवार (29 मई 2022) को जमीयत की बैठक के दूसरे द

आपके पसंद का न्यूज

Subscribe US Now