अमरावती हत्याकांड: मास्टरमाइंड इरफान के इशारे पर हुआ था उमेश का कत्ल, पुलिस ने नागपुर में दबोचा

स्टोरी हाइलाइट्स

4 1 55
Read Time5 Minute, 17 Second

स्टोरी हाइलाइट्स
  • 21 जून को हुई थी केमिस्ट उमेश की हत्या
  • पुलिस ने अब तक 7 आरोपियों को किया गिरफ्तार

महाराष्ट्र के अमरावती में हुई केमिस्ट उमेश कोल्हे की हत्या के मुख्य आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस अब तक इस मामले में इरफान खान (35) समेत 7 आरोपियों को गिरफ्तार चुकी है. इस हत्याकांड का मास्टरमाइंड इरफान खान को बताया जा रहा है. इरफान खान एक एनजीओ चलाता है.नूपुर शर्मा का समर्थन करने पर केमिस्ट की हत्या करने का निर्देश इरफान ने ही दिया था और उसी ने पूरी योजना बनाई थी.

21 जून को हुई थी हत्या

पुलिस के मुताबिक, 54 साल के केमिस्ट उमेश प्रहलादराव कोल्हे की 21 जून को हत्या कर दी गई थी और इस सिलसिले में अब तक सात लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. यह घटना राजस्थान के उदयपुर में एक टेलर कन्हैयालाल की हत्या करने से एक हफ्ते पहले हुई थी.

पुलिस ने ये भी बताया कि मुख्य आरोपी इरफान खान ने उमेश की हत्या की साजिश रची और इसके लिए पांच लोगों को शामिल किया. इरफान खान ने अन्य पांच आरोपियों को 10-10 हजार रुपए देने और भागने के लिए एक कार देने का वादा किया था. घटना 21 जून को रात 10 से 10.30 बजे के बीच हुई, जब उमेश अपनी दुकान बंद करके बाइक से घर लौट रहे थे. इस दौरान उमेश का बेटा संकेत और पत्नी वैष्णवी दूसरी बाइक से उनके साथ चल रहे थे. पुलिस के मुताबिक, उमेश जैसे ही महिला कॉलेज के गेट के पास पहुंचे, तो बाइक सवार दो लोगों ने पीछे से आकर उमेश का रास्ता रोक दिया. एक युवक बाइक से उतरा और उमेश की गर्दन पर धारदार हथियार से वार किया और मौके से फरार हो गया. खून से लथपथ उमेश सड़क पर गिर गए. इसके बाद संकेत उसे अस्पताल ले गया जहां उनकी मौत हो गई थी.

\\\"स्वर्णिम
+91 120 4319808|9470846577

स्वर्णिम भारत न्यूज़ हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा (जन्म 1968) स्वर्णिम भारत के संस्थापक-प्रकाशक , प्रधान संपादक और मेन्टम सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Laptops | Up to 40% off

अगली खबर

बीजेपी संसदीय बोर्ड से गडकरी, शिवराज आउट; पार्टी के इस कदम के क्या हैं मायने?

BJP New Parliamentary Board: लंबे इंतजार के बाद आखिरकार जेपी नड्डा ने पार्टी में फैसला लेने वाली सबसे ताकतवर और सर्वोच्च संस्था बीजेपी संसदीय बोर्ड और चुनावों के लिए उम्मीदवारों के नाम पर मुहर लगाने वाली ताकतवर केंद्रीय चुनाव समिति के नए सदस्

आपके पसंद का न्यूज

Subscribe US Now