ATM से पैसे निकालने के दौरान बरतें ये सावधानियां, वरना इनकी तरह लुट जाएंगे

4 1 25
Read Time5 Minute, 17 Second

महाराष्ट्र के नवी मुंबई और ठाणे जिलों में एटीएम केंद्रों पर लोगों के साथ धोखाधड़ी करके पैसे ठगने के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इन लोगों के निशाने पर ज्यादातर वरिष्ठ नागरिक रहते थे. ये पैसे की निकासी में उनकी मदद के नाम पर अपनी जाल में फंसा लेते थे. इसके बाद धोखे से उनका एटीएम कार्ड बदल लेते थे. उससे पैसे निकाल लेते थे. पुलिस दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है.

पुलिस के मुताबिक, इस वारदात का खुलासा एक वरिष्ठ नागरिक की शिकायत के बाद हुआ. पीड़ित ने बताया कि वो कामोठे इलाके में स्थित एक एटीएम मशीन से पैसे निकालने गया था. वहां एक शख्स ने मदद के नाम पर उसका एटीएम कार्ड बदल लिया. इसके बाद उसके खाते से एक लाख रुपए निकाल लिए. पीड़िता की शिकायत के आधार पर पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ केस दर्ज करके जांच शुरू कर दी.

एक वरिष्ठ पुलिस अफसर ने बताया, "पीड़ित की शिकायत के बाद हमने एटीएम और आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच की थी. इसके साथ ही एटीएम कियोस्क पर संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रख गई. इस दौरान संदिग्धों के वाहन की पहचान हो गई. इसके आधार पर उन्हें पकड़ लिया गया.'' पुलिस ने जांच के दौरान दोनों आरोपियों के पास से 80 हजार रुपए नकद और एक कार बरामद की है.

Advertisement

जानिए एटीएम केंद्र पर होने वाले फर्जीवाड़े को कैसे रोके...

1. एटीएम से पैसे निकालने के दौरान कभी किसी से मदद न लें. जालसाज लोगों को चूना लगाने के लिए तरह-तरह के तिकड़म अपनाते हैं. कई बार मददगार बनकर आते हैं. ऐसे में गांठ बांध लें कि एटीएम के अंदर कभी भी किसी अनजबी की मदद नहीं लेनी है. कोई परेशानी आ रही है या समझ में नहीं आ रहै है, तो वहां मौजूद बैंक के गार्ड से मदद ले सकते हैं.

2. किसी सुनसान जगह पर लगी एटीएम मशीन से पैसे निकालने से बचना चाहिए. ऐसी जगहों पर जालसाज कार्ड का क्लोन तैयार कर लेते हैं. इसके लिए एटीएम के कार्ड वाले स्लॉट में स्कीमर नामक डिवाइस लगा देते हैं. इस डिवाइस में एटीएम कार्ड का सारा डेटा स्टोर हो जाता है. इस डेटा से कार्ड का क्लोन तैयार करके जालसाज पैसे निकाल लेते हैं.

3. कई बार जालसाज बैंक के अधिकारी बनकर लोगों को कॉल करते हैं. उनसे ओटीपी, सीवीवी या कार्ड से जुड़ी जानकारी मांगते हैं. लोगों से कहते हैं कि उनका बैंक अकाउंट बंद हो जाएगा, इसलिए वो मांगी गई जानकारी उन्हें जल्दी से जल्दी दे दें. कुछ लोग उनकी जाल में फंसकर जानकारी दे देते हैं. ऐसे अपनी जमा पूंजी मेहनत की कमाई पल भर में गवां बैठते हैं.

4. ठगी से बचने के लिए एटीएम कार्ड का पिन समय-समय पर बदलते रहना चाहिए. सभी बैंक ग्राहकों को इस बारे में जागरुक करते रहते हैं. बैंक लगातार एटीएम कार्ड को सिक्योर भी करते रहते हैं. चिप वाले कार्ड इसी बात को ध्यान में रखकर शुरू किए गए हैं. यदि बैंक कार्ड अपग्रेड करने के लिए कहता है तो ब्रांच में जाकर जरूर करा लेना चाहिए. सिक्योरिटी फीचर्स वाले कार्ड से ठगी कर पाना मुश्किल होता है.

\\\"स्वर्णिम
+91 120 4319808|9470846577

स्वर्णिम भारत न्यूज़ हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा (जन्म 1968) स्वर्णिम भारत के संस्थापक-प्रकाशक , प्रधान संपादक और मेन्टम सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Laptops | Up to 40% off

अगली खबर

Himachal Weather Today: तीन NH समेत 114 सड़कें बंद...रोहतांग सहित ऊंची चोटियों पर हुई बर्फबारी ने बढ़ाई मुश्किल

राज्य ब्यूरो, शिमला। Himachal Weather Update: हिमपात और वर्षा के साथ आंधी ने बागवानों और किसानों की चिंताओं को बढ़ा दिया है। इन दिनों सेब में फूल आ रहे हैं और गेंहू पक कर तैयार होने को है। जबकि प्लम,आड़ू, खुबानी आदि फल लगे हुए हैं।

आपके पसंद का न्यूज

Subscribe US Now