Team India 2011 World Cup- धोनी के रणबांकुरों ने आज ही रचा था इतिहास, टूटा था 28 साल का तिलिस्म

4 1 17
Read Time5 Minute, 17 Second

भारतीय क्रिकेट के इतिहास में 2 अप्रैल का दिन काफी खास है. 13 साल पहले यानी साल2011 में इसी दिन भारतीय टीमने दूसरी बार ओडीआईवर्ल्ड कप पर कब्जा किया था. साल 1983 में भारत ने कपिल देव की कप्तानी मेंपहली बार वर्ल्डचैम्पियन बनने का गौरव हासिल किया था. यानी 28 साल के लंबे इंतजार के बाद बाद महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई मेंटीम इंडिया ने फिर से इतिहास रच डाला. भारतीय टीम वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया के बाद तीसरी ऐसी टीम बन गई थी, जिसने दोया इससे अधिक बार ओडीआई वर्ल्ड कप जीता.

...जयवर्धने ने जड़ा शानदार शतक

मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए उस फाइनल मुकाबले मेंश्रीलंकाई टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 6 विकेट पर 274 रनों का स्कोर खड़ा किया था. मेहमान टीम के लिए महेला जयवर्धने ने 103 रनों की पारी खेली थी. वही कप्तान कुमार संगकारा ने 48 और नुवान कुलसेकरा ने 32 रनों का योगदान दिया था. भारत की ओर से जहीर खान और युवराज सिंह ने दो-दो विकेट चटकाए थे.

275 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत को शुरुआती झटके लगे थे. उसके 2 विकेट महज 31 रनों पर गिर गए थे.फिर टीम इंडिया ने 114 रनों के स्कोर पर विराट कोहली का विकेट गंवा दिया.तब ओपनर गौतम गंभीर क्रीज पर थे और उनका साथ देने के लिए युवराज सिंह को आना था. मगरकप्तान महेंद्र सिंहधोनी सबको हैरत में डालते हुए युवराज सिंह से पहले क्रीज पर आ गए. धोनी ने धमाकेदार पारी खेल कर 10 गेंद बाकी रहतेभारत को जीत (277/4)दिलाई. धोनी'प्लेयर ऑफद मैच' रहे.

...कप्तानधोनी का वो यादगार सिक्स

एमएस धोनी ने गौतम गंभीर केसाथ चौथे विकेट के लिए 109 रनों की पार्टनरशिप की थी. फिर युवराज सिंह के साथ मिलकर पांचवें विकेट के लिए उन्होंने नाबाद 54 रन जोड़े थे. गौतम गंभीर ने 97 रनों (122 गेंद, 9 चौके) की ठोस पारी खेली. जबकि धोनी ने 79 गेंदों में 91 रन (8 चौके, दो छक्के) तो बनाए ही, साथ ही 'बेस्ट फिनिशर' की परिभाषा पर खरे उतरते हुए विजयी सिक्सजड़करफैन्स का दिल जीत लिया. धोनी ने यह छक्का तेज गेंदबाज नुवान कुलसेकरा की बॉल पर जड़ा था. युवराज24 गेंदों पर 21 रन बनाकर नाबाद रहे.

भारतीय क्रिकेट टीम के 28 साल बाद विश्व विजेता बनने पर प्रशंसक जश्न में डूब गए. यह मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का भी आखिरी वर्ल्ड कप भी था, ऐसे में उनके लिए यह खिताब एक स्पेशल गिफ्ट भी रहा. चूंकि मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का विश्व विजेता बनने का सपना पूरा हो चुका था. ऐसे मेंभारतीय खिलाड़ियों ने इस दिग्गज को कंधे पर बिठाया और पूरे स्टेडियम का चक्कर लगाया.

sachin
फोटो क्रेडिट: (Getty Images)

पूरे वर्ल्ड कप में युवराज सिंह, सचिन तेंदुलकर और जहीर खान का जलवा रहा. युवराज को 'प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट' चुना गया था. उन्होंने पूरे टूर्नामेंट में गेंद और बल्ले से धमाल मचाया था. युवराजने वर्ल्ड कप में 362 रन बनाएऔर 15 विकेट भी चटकाएथे. टीम इंडिया के लिए सचिन तेंदुलकर ने सबसे ज्यादा 482 रन बनाए थे. जबकि जहीर खान ने सबसे ज्यादा 21 विकेट झटके थे. सचिन-जहीरओवरऑल लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहे थे.

भारतीय टीम ने तोड़ दिए ये मिथक

भारत ने फाइनल में श्रीलंका को हराकर कई मिथक तोड़े. वह पहली ऐसी मेजबान टीम बनी, जिसने वर्ल्ड कप जीता. इससे पहले किसी टीम ने अपनी धरती पर वर्ल्ड कप हासिल नहीं किया था. भारत के बाद ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड की टीम भी अपनी-अपनीधरती पर ओडीआई वर्ल्ड कप जीतने में सफल रही.

Advertisement

टीम इंडिया लक्ष्य का पीछा करते हुए चैम्पियन बनने वाली तीसरी टीम बनी थी. इससे पहले वर्ल्ड कप के इतिहास में दो बार ही ऐसा हुआथा. इससे पहले तक फाइनल में शतक बनाने वाले की टीम जीतती रही थी. लेकिन ऐसा पहली बार हुआ था, जब शतक काम नहीं आया. महेला जयवर्धने के नाबाद 103 रनों के बाद भी श्रीलंका को जीत नसीब नहीं हुई.

\\\"स्वर्णिम
+91 120 4319808|9470846577

स्वर्णिम भारत न्यूज़ हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा (जन्म 1968) स्वर्णिम भारत के संस्थापक-प्रकाशक , प्रधान संपादक और मेन्टम सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Laptops | Up to 40% off

अगली खबर

Gujarat: गुजरात में नाराज क्षत्रियों को मनाने में जुटी सरकार, पुरुषोत्तम रुपाला के बयान से कैसे घिरी BJP?

राज्य ब्यूरो, अहमदाबाद। गुजरात के राजकोट में क्षत्रिय अस्मिता महासम्मेलन के बाद अब राजपूत समाज की संस्थाओं की संकलन समिति व करणी सेना में विवाद उत्पन्न हो गया है। करणी सेना महिला मोर्चा की अध्यक्ष पदमिनी बा ने कहा कि संकलन समिति भाजपा के साथ मिलक

आपके पसंद का न्यूज

Subscribe US Now