भोजपुर में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़, दो शातिर अपराधी फायरिंग में घायल

नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री और AAP संयोजक अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी को चुनौती देने वाली याचिका का विरोध किया है। केंद्रीय जांच एजेंसी ने दिल्ली हाईकोर्ट के समक्ष मंगलवार को अपना जवाब दाखिल कर दिया। ईडी ने हल

4 1 14
Read Time5 Minute, 17 Second

नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री और AAP संयोजक अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी को चुनौती देने वाली याचिका का विरोध किया है। केंद्रीय जांच एजेंसी ने दिल्ली हाईकोर्ट के समक्ष मंगलवार को अपना जवाब दाखिल कर दिया। ईडी ने हलफनामे में कहा कि शराब घोटाले में आम आदमी पार्टी मुख्य लाभार्थी है। अरविंद केजरीवाल के माध्यम से AAP ने मनी लॉन्ड्रिंग का अपराध किया। ऐसे अपराध धारा 70, PMLA 2002 के अंतर्गत आते हैं।

केजरीवाल की याचिका पर ईडी का जवाब

केंद्रीय जांच एजेंसी ने अरविंद केजरीवाल की उस याचिका का विरोध किया है जिसमें उन्होंने हाईकोर्ट से रिहाई की मांग की है। सीएम केजरीवाल की याचिका पर पिछली सुनवाई के दौरान दिल्ली हाईकोर्ट ने ईडी को 2 अप्रैल तक जवाब दाखिल करने को कहा था। इसी के मद्देनजर प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने मंगलवार को हलफनामा दाखिल कर दिया। इसमें जांच एजेंसी ने कहा कि आम आदमी पार्टी, दिल्ली शराब घोटाले में हुए आय की प्रमुख लाभार्थी है। AAP ने इन पैसों के एक हिस्से का इस्तेमाल 2022 के गोवा विधानसभा चुनाव में किया।


शराब घोटाले के पैसों का AAP ने गोवा चुनाव में किया इस्तेमाल- ED

ईडी ने अपने जवाब में कहा कि आम आदमी पार्टी ने शराब घोटाले से मिले करीब 45 करोड़ रुपये का इस्तेमाल गोवा चुनाव अभियान में किया था। ऐसे अपराध धारा 70, PMLA 2002 के अंतर्गत आते हैं। ईडी ने ये जानकारी हाईकोर्ट में दी। वहीं दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही हैं। राउज एवेन्यू कोर्ट ने एक दिन पहले उन्हें न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज दिया। अब ईडी ने उनकी उस याचिका का विरोध किया जिसमें सीएम केजरीवाल ने रिहाई की मांग की है।

ED को नोटिस तो दिल्ली के सीएम को भी नहीं मिली राहत, जानिए अरविंद केजरीवाल की याचिका पर हाईकोर्ट ने क्या कहा

केजरीवाल की याचिका पर 3 को हाईकोर्ट में सुनवाई

दिल्ली हाईकोर्ट में सीएम केजरीवाल के मामले में बुधवार को सुनवाई होगी। ईडी की पूरी कोशिश है कि अरविंद केजरीवाल को राहत नहीं मिल सके। इससे पहले 27 मार्च को हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान केजरीवाल के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने उनकी गिरफ्तारी पर सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा था कि अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी इसलिए की गई जिससे उनकी पार्टी लोकसभा चुनाव में पूरी तैयारी से नहीं उतर सके। उन्हें AAP संयोजक की गिरफ्तारी को लोकतंत्र और संविधान के बुनियादी ढांचे पर हमला करार दिया था।

\\\"स्वर्णिम
+91 120 4319808|9470846577

स्वर्णिम भारत न्यूज़ हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा (जन्म 1968) स्वर्णिम भारत के संस्थापक-प्रकाशक , प्रधान संपादक और मेन्टम सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Laptops | Up to 40% off

अगली खबर

Gujarat: गुजरात में नाराज क्षत्रियों को मनाने में जुटी सरकार, पुरुषोत्तम रुपाला के बयान से कैसे घिरी BJP?

राज्य ब्यूरो, अहमदाबाद। गुजरात के राजकोट में क्षत्रिय अस्मिता महासम्मेलन के बाद अब राजपूत समाज की संस्थाओं की संकलन समिति व करणी सेना में विवाद उत्पन्न हो गया है। करणी सेना महिला मोर्चा की अध्यक्ष पदमिनी बा ने कहा कि संकलन समिति भाजपा के साथ मिलक

आपके पसंद का न्यूज

Subscribe US Now