पाकिस्तान की जनता को महंगाई का नया झटका! पेट्रोल की कीमतों में हो सकता है इजाफा

Pakistan News: आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान में लोगों को महंगाई का एक नया झटका झेलना पड़ सकता है.पेट्रोलियम कीमतों के आगामी फोर्टनाइटली रिव्यू में पेट्रोल की कीमतों में इजाफा हो सकता है. इंडस्ट्री के अधिकारियों का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय कच्च

4 1 31
Read Time5 Minute, 17 Second

Pakistan News: आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान में लोगों को महंगाई का एक नया झटका झेलना पड़ सकता है.पेट्रोलियम कीमतों के आगामी फोर्टनाइटली रिव्यू में पेट्रोल की कीमतों में इजाफा हो सकता है. इंडस्ट्री के अधिकारियों का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय कच्चे तेल की कीमतों में उछाल के कारण देश पेट्रोल की कीमत लगभग 10 पीकेआर प्रति लीटर बढ़ने की संभावना है.

तेल उद्योग के अनुमान के मुताबिक, अगले फोर्टनाइटली रिव्यू में पेट्रोल की कीमत मौजूदा कीमत पीकेआर (पाकिस्तानी मुद्रा ) 279.75 प्रति लीटर से बढ़कर 289.69 पीकेआर प्रति लीटर तक पहुंचने की संभावना है.

हाई स्पीड डीजल की कीमत में कमी जियो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, इस बीच, हाई-स्पीड डीजल (एचएसडी) की कीमत 285.86 पीकेआर प्रति लीटर की मौजूदा कीमत से 1.30 पीकेआर प्रति लीटर घटकर 284.26 पीकेआर होने का अनुमान है.

इसके अलावा, केरोसीन की कीमत में 188.66 पीकेआर प्रति लीटर की मौजूदा कीमत से 0.17 पीकेआर प्रति लीटर की मामूली गिरावट हो सकती है जिससे कीमत 188.49 पीकेर प्रति लीटर होने की उम्मीद है.

इसी तरह, लाइट डीजल ऑयल (एलडीओ) की कीमत 0.45 पीकेआर प्रति लीटर बढ़कर पीकेआर 168.63 हो जाने की संभावना है. मौजूदा कीमत 168.18 पीकेआर प्रति लीटर है.

संघीय सरकार रविवार (31 मार्च) को अंतिम कीमतों की घोषणा करेगी जो 1 अप्रैल (सोमवार) से प्रभावी होगी। पिछले फोर्टनाइटली रिव्यू में पेट्रोल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं हुआ था जबकि एचएसडी की कीमत में पीकेआर 1.77 प्रति लीटर की कमी हुई.

\\\"स्वर्णिम
+91 120 4319808|9470846577

स्वर्णिम भारत न्यूज़ हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा (जन्म 1968) स्वर्णिम भारत के संस्थापक-प्रकाशक , प्रधान संपादक और मेन्टम सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Laptops | Up to 40% off

अगली खबर

आखिर आइंस्टीन ने क्यों लिखी थी पंडित नेहरू को चिट्ठी? जुड़ा है इजरायल कनेक्शन

नई दिल्ली: महान वैज्ञानिक आइंस्टीन ने जर्मनी में नाजी सत्ता आने के बाद अमेरिका की नागरिकता ले ली थी। हालांकि, वह दूसरे यहूदियों के लिएइजरायल की स्थापना का समर्थन करते थे। वह भी चाहते थे कि ऐसा अरब लोगों के साथ एक समझौते के बाद ही हो। यूनाइटेड ने

आपके पसंद का न्यूज

Subscribe US Now