भारत में चुनाव के बाद दोनों देशों के रिश्ते हो सकते हैं बेहतर- PAK के मंत्री का बयान

Pakistan News: पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने भारत में आम चुनाव के बाद पड़ोसी देश के साथ रिश्ते बेहतर होने की उम्मीद जताई है. आसिफ ने सोमवार को कहा, ‘भारत में चुनाव के बाद उससे हमारे संबंध बेहतर हो सकते हैं.’इस्लामाबाद में संसद भवन के बा

4 1 20
Read Time5 Minute, 17 Second

Pakistan News: पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने भारत में आम चुनाव के बाद पड़ोसी देश के साथ रिश्ते बेहतर होने की उम्मीद जताई है. आसिफ ने सोमवार को कहा, ‘भारत में चुनाव के बाद उससे हमारे संबंध बेहतर हो सकते हैं.’इस्लामाबाद में संसद भवन के बाहर पत्रकारों से बात करते हुए आसिफ ने कहा कि दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों की अपनी‘पृष्ठभूमि’ है.

विदेश मंत्री डार भी कर चुके हैं बेहतर रिश्तों की बात

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हाल ही में डार ने कहा कि देश की नई सरकार स्थानीय व्यापारियों की मांगों के सम्मान में भारत के साथ व्यापार संबंधों को फिर से शुरू कर सकती है. डार के बयान से पहले पाकिस्तानी प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने एक्स पर बधाई संदेश के लिए पीएम मोदी को धन्यवाद दिया था.

तनावपूर्ण संबंधों का लंबा इतिहास भारत और पाकिस्तान के बीच तनावपूर्ण संबंधों का एक लंबा इतिहास रहा है. जिसका मुख्य कारण कश्मीर मुद्दा और साथ ही पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद रहा है. भारत द्वारा जम्मू कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा खत्म करने के बाद 2019 में पाकिस्तान ने भारत के साथ अपने रिश्ते को कमतर कर दिया था.

कुछ दिन पहले भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सिंगापुर में कहा था कि पाकिस्तान करीब करीब 'औद्योगिक स्तर’ पर आतंकवाद को प्रयोजित कर रहा है. उन्होंने कहा भारत का मूड अब आतंकवादियों को नज़रअंदाज़ करने का नहीं है इसलिए वह ‘अब इस समस्या को नजरअंदाज नहीं करेगा.’

\\\"स्वर्णिम
+91 120 4319808|9470846577

स्वर्णिम भारत न्यूज़ हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा (जन्म 1968) स्वर्णिम भारत के संस्थापक-प्रकाशक , प्रधान संपादक और मेन्टम सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Laptops | Up to 40% off

अगली खबर

झारखंड में नकदी व शराब जब्ती का आंकड़ा 50 करोड़ के पार, धनबल के उपयोग पर चुनाव आयोग ने कसा शिकंजा

राज्य ब्यूरो, रांची। लोकसभा चुनाव में धनबल का दुरुपयोग रोकने तथा भयमुक्त, स्वच्छ एवं निष्पक्ष मतदान सुनिश्चित करने के लिए लगातार अवैध नकदी, शराब एवं अन्य मादक पदार्थों की धर-पकड़ की जा रही है। चुनाव आयोग के निर्देश पर संबंधित एजेंसियां इसमें पूरी

आपके पसंद का न्यूज

Subscribe US Now