Karnataka- लड़की ने रिजेक्ट किया प्रपोजल तो सिरफिरे आशिक ने घर में सोते समय कर दिया मर्डर

4 1 8
Read Time5 Minute, 17 Second

कर्नाटक के हुबली में एक लड़की ने युवक द्वारा मिले प्रपोजल को ठुकरा दिया, जिससे गुस्साए सिरफिरे ने उसकी बेरहमी से हत्या कर दी. सिरफिरआशिकने घर में सो रही लड़की की चाकू से गोदकर हत्या कर दी. इस मामले की जानकारी होने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपीको पकड़ने के लिए एक टीम का गठन कर दिया है.

हुबली जिले के बेंडिगेरी इलाके में विश्वा उर्फ गिरीश नाम के सिरफिरे युवक ने 20 साल की लड़की की क्रूरता से हत्या कर दी. मृतक लड़की की पहचान अंजलि अम्बिगेरा के रूप में हुई है. आरोपी ने इस वारदात को लड़की के घर में घुसकर उस समय अंजाम दिया, जब वो अपने घर में सो रही थी. इससे पहले उसने लड़की को प्रपोज किया था, जिसका रिजेक्शन वो नहीं सह पाया और उसने लड़की की ही हत्या कर दी.

दिल्ली के DDA पार्क में युवक की चाकू से गोदकर हत्या, मशीन से एक्सरसाइज करने को लेकर हुआ था विवाद

पुलिस ने इस मामले में क्या बताया?

वहीं इस घटना को लेकर हुबली के एसपी गोपाल बयोकाड ने बताया, "वीरपुरा ओनी गांव के पास बेंडिगेरी थाना इलाके में अंजलि नाम की एक लड़की की हत्या की सूचना मिली है. हमलावर ने घर के अंदर घुसकर उसकी चाकू मारकर हत्या की है. हमने हत्या का मामला दर्ज कर लिया है और फिलहाल इस घटना के पीछे के मकसद का पता लगाने के लिए आगे की जांच कर रहे हैं. अंजलि के अपराधी को पकड़ने के लिए एक टीम का गठन किया गया है."

\\\"स्वर्णिम
+91 120 4319808|9470846577

स्वर्णिम भारत न्यूज़ हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा (जन्म 1968) स्वर्णिम भारत के संस्थापक-प्रकाशक , प्रधान संपादक और मेन्टम सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Laptops | Up to 40% off

अगली खबर

Bengal: 2010 के बाद जारी सभी OBC प्रमाणपत्र HC ने किए रद, ममता बोलीं- हमें मंजूर नहीं ये आदेश; PM ने कहा- कोर्ट का फैसला INDI गठबंधन पर तमाचा

राज्य ब्यूरो, स्वर्णिम भारत न्यूज़, कोलकाता। कलकत्ता हाई कोर्ट बुधवार को वर्ष 2010 के बाद तृणमूल सरकार द्वारा जारी कई वर्गों के अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) प्रमाणपत्र को असंवैधानिक बताते हुए उसे रद कर दिया है। फैसला सुनाए जाने के बाद रद किए गए प्रमा

आपके पसंद का न्यूज

Subscribe US Now