सियासत के परिसर

शिक्षण संस्थानों को राजनीतिक दखलंदाजी से दूर रखने के मकसद से विश्वविद्यालयों को स्वायत्तता दी गई थी। उनमें होने वाली नियुक्तियों, शोध-अनुसंधानों आदि को लेकर विश्वविद्यालय अनुदान आयोग नियम-कायदे तय जरूर करता है, मगर शैक्षणिक गतिविधियों और अनुशासनात्

हिंसा का मानस

अमेरिका में टेक्सास के एक प्राथमिक स्कूल में हुई गोलीबारी ने एक बार फिर इस बहस को ताजा कर दिया है कि आखिर ऐसी घटनाओं की वजह और इसके स्रोत क्या हैं और ये कैसे रुकेंगी! वहां कैसे हालात विकसित हुए हैं जिसमें एक महज अठारह साल का लड़का खुले बाजार से बंदू

आतंक की जमीन

कश्मीर में आतंकी अब लक्ष्य बना कर हिंसा करने लगे हैं। पहले उनका मकसद लोगों में दहशत फैलाना और सरकार को चुनौती देना होता था, मगर अब वे सीधे-सीधे तालिबानी रास्ते पर उतरते दिख रहे हैं। बडगाम जिले में एक टीवी अभिनेत्री की हत्या इसका ताजा प्रमाण है। अंद

महंगाई पर नकेल

अब केंद्र सरकार महंगाई को लेकर गंभीर दिखने लगी है। इस पर काबू पाने के लिए कुछ कदम भी उठाने शुरू कर दिए हैं। पहले पेट्रोल-डीजल पर उत्पाद शुल्क कम किया, राज्य सरकारों को वैट कम करने को कहा और अब खाद्यान्न की महंगाई पर रोक लगाने के उपाय आजमा रही है। ग

भ्रष्टाचार के पांव

पंजाब में महज दो महीने पहले बनी ‘आप’ यानी आम आदमी पार्टी की सरकार में स्वास्थ्य मंत्री के भ्रष्टाचार में लिप्त होने की खबर बताती है कि राजनीतिक दलों की ओर से जनता को दिया गया भरोसा और उस पर अमल में जमीन-आसमान का फर्क होता है। हालांकि आम आदमी पार्टी

क्‍वाड की चुनौतियां

तोक्यो में संपन्न हुई क्वाड शिखर बैठक में यूक्रेन युद्ध से लेकर हिंद प्रशांत क्षेत्र का मुद्दा छाया रहना बड़े देशों की मुश्किलों को बताने के लिए काफी है। सम्मेलन में अमेरिका सहित दूसरे सदस्य देशों के रुख से यह भी साफ हो गया कि सभी देश आने वाले वक्त

लापता बच्चे

देश भर में गुम हो जाने वाले बच्चों को लेकर लंबे समय से चिंता जताई जा रही है। अमूमन हर साल गायब हुए बच्चों के आंकड़े सामने आते हैं, इससे संबंधित रिपोर्ट पेश की जाती है, इस समस्या के अलग-अलग पहलुओं पर चर्चा होती है और फिर कुछ समय बाद इस मसले पर एक विच

विवाद का पानी

दिल्ली पिछले कई दिनों से गंभीर जल संकट से जूझ रही है। आलम यह है कि पानी पहुंचाने वाले टैंकरों को कड़ी सुरक्षा में चलाया जा रहा है, ताकि पानी को लेकर हिंसा की नौबत न आ जाए। यह चिंताजनक इसलिए है कि अगर ऐसे ही हालात बने रहे तो यह जल संकट कभी भी जल संघर

मनमानी मुठभेड़

पुलिस को अपराध रोकने और अपराधियों में कानून का भय पैदा का सबसे आसान रास्ता शायद मुठभेड़ में अपराधियों को मार गिराना नजर आता है। पुलिस की यह प्रवृत्ति बहुत पुरानी है और हर मुठभेड़ के पीछे उसकी लगभग एक-सी दलील होती है। प्राय: पुलिस की गिरफ्त से भागने क

चीन की चाल

अब तक उम्मीद तो यही रही है कि चीन पूर्वी लद्दाख में चल रहे सीमा विवाद को जल्द सुलझाएगा। लेकिन पिछले दो साल में उसकी तरफ से एक बार भी ऐसा कोई संकेत नहीं आया जिससे जरा भी यह लगे कि वह इस मसले को सुलझाना चाहता है और भारत के साथ दोस्ताना रिश्ते बनाने क

सीखचों पर सवाल

सर्वोच्च न्यायालय ने शीना बोरा हत्या मामले में इंद्राणी मुखर्जी को आखिर जमानत दे दी। जमानत मंजूर करते हुए अदालत ने जो टिप्पणी की है, उससे एक बार फिर आपराधिक मामलों में विचाराधीन कैदियों की दशा रेखांकित हुई है। इंद्राणी मुखर्जी पिछले साढ़े छह साल से

डेंगू के पांव

पिछले करीब ढाई साल से देश और दुनिया ने जिस तरह कोरोना विषाणु के संक्रमण से उपजी स्थिति का सामना किया, उसके दंश का एहसास लगभग सबको है। इसकी मार के असर का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि दूसरी बीमारियां भी लोगों के बीच थीं, लेकिन उनकी गंभीरता दर्ज नह

समाधान के बजाय

कई सालों से इस मौसम में अमूमन हर बार दिल्ली में पानी का संकट गहरा जाता है। इसे लेकर आम जनता के बीच जहां अफरातफरी मच जाती है, वहीं सरकार इस मुश्किल में अपनी जिम्मेदारी से बचने की कोशिश में लग जाती है। इस साल तापमान में अप्रत्याशित बढ़ोतरी के साथ-साथ

बढ़ता संकट

प्रदूषण से होने वाली मौतों को लेकर एक बार फिर चौंकाने वाले आंकड़े आए हैं। लैंसेट की ताजा रिपोर्ट बता रही है कि साल 2019 में दुनिया भर में प्रदूषण से नब्बे लाख मौतें हुई थीं। इनमें से पचहत्तर फीसद यानी छियासठ लाख साठ हजार मौतें तो सिर्फ वायु प्रदूषण

सहयोग का सफर

बुद्ध पूर्णिमा के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नेपाल यात्रा दोनों देशों के बीच मजबूत हो रहे रिश्तों को रेखांकित करती है। वैसे तो प्रधानमंत्री पहले भी नेपाल की यात्रा पर गए हैं, पर यह दौरा पूर्व के दौरों की तुलना में अलग और ज्यादा महत्त्वपूर्ण र

दहशतगर्दी की बुनियाद

तमाम चौकसी, सख्ती और तलाशी अभियानों के बावजूद कश्मीर घाटी में दहशतगर्दी खत्म होने का नाम नहीं ले रही, तो इसकी कुछ वजहें अब साफ हो रही हैं। कश्मीर विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर, सरकारी स्कूल के अध्यापक और कश्मीर पुलिस के एक कर्मी की गिरफ्तारी से जाहि

बेकाबू महंगाई

अप्रैल में खुदरा महंगाई दर 7.8 फीसद हो गई। यह पिछले आठ साल में सबसे ज्यादा है। यह चिंताजनक इसलिए है कि महंगाई दर रिजर्व बैंक के निर्धारित छह फीसद के दायरे से पहले ही काफी ऊपर जा चुकी है। हालांकि रिजर्व बैंक कहता रहा है कियह साल महंगाई की मार में ही

संवेदनहीनता की हद

मध्यप्रदेश में भूख से तड़पते एक बच्चे के साथ एक पुलिसकर्मी ने जो किया, वह एकबारगी अविश्वसनीय घटना लगती है। मगर इससे संबंधित जो ब्योरा सामने आया, उसने हर संवेदनशील व्यक्ति को दहला दिया होगा। चार मई को दतिया जिले में छह साल का एक मासूम अपने पिता की दु

देशभक्ति की भावना

हर नागरिक को अपने राष्ट्र पर स्वाभाविक और उचित ही गर्व होता है। देशभक्ति की भावना उसे बचपन से ही अपने परिवेश, परिवार और पाठशाला से मिलनी शुरू हो जाती है। देश पर गर्व की अभिव्यक्ति वह विभिन्न अवसरों पर अपना राष्ट्रगान या राष्ट्रगीत गाकर करता है। हर

दावे और हकीकत

अस्वच्छता की वजह से फैलने वाली बीमारियों पर काबू पाने के मकसद से स्वच्छ भारत अभियान चलाया गया था। इसके तहत न सिर्फ लोगों को खुले में शौच से रोकने के लिए अभियान चलाए गए, बल्कि सरकारी सहायता से शौचालय भी बनवाए गए। गरीब परिवारों के घरों में सरकार की त

सेवा में बदइंतजामी

शारीरिक रूप से अक्षम लोग किसी भी तरह से खुद को हीन न समझें और उनके विशेष गुणों का समाज को लाभ मिल सके, इसलिए दिव्यांगों के सम्मान की रक्षा के लिए कानूनी प्रावधान हैं। उन्हें सार्वजनिक वाहनों में यात्रा करते समय विशेष सुविधाएं उपलब्ध कराना जरूरी है।

फूटता जनाक्रोश

पड़ोसी देश श्रीलंका में जो कुछ भी घटित हो रहा है, वह चिंताजनक है। प्रधानमंत्री पद से महिंदा राजपक्षे के इस्तीफे के बाद देश में भयानक हिंसा और आगजनी की घटनाएं लोगों के गुस्से का नतीजा हैं। गुस्साए लोगों ने हंबनटोटा में महिंदा राजपक्षे का पुश्तैनी घर

कैसे रुके जंग

रूस-यूक्रेन के बीच चल रही जंग को ढाई महीने से ज्यादा हो चुके हैं। लेकिन अभी तक ऐसा कोई संकेत नहीं दिखा है जिससे लगे कि अब युद्ध खत्म हो जाएगा। जंग खत्म करवाने के लिए पिछले कई दिनों से शांति वार्ताओं के प्रयास भी हुए। तुर्की जैसे देश ने यूक्रेन और र

संकट सत्ता का

श्रीलंका में राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने फिर से आपातकाल लगा दिया। पांच हफ्ते पहले भी देश में आपातकाल लगाया गया था, पर भारी जनविरोध को देखते हुए कुछ ही दिन में इसे हटा भी लिया था। इस बार लगाया गया आपातकाल कब तक जारी रहेगा, कहा नहीं जा सकता। इससे

भ्रष्टाचार की जड़ें

हर राजनीतिक दल और हर सरकार दावा करती है कि वह भ्रष्टाचार कतई बर्दाश्त नहीं करेगी। कुछ भ्रष्ट अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर यह संदेश देने का भी प्रयास करती हैं कि वे भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्ती बरत रही हैं। मगर आज तक किसी भी सरकार

फ्रांस का साथ

भारत के हितों और सुरक्षा को लेकर फ्रांस ने जैसा सरोकार दिखाया है, उससे निश्चित ही दोनों देशों के बीच रिश्ते और मजबूत होंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हाल की फ्रांस यात्रा के बाद यह साफ हो गया कि न सिर्फ रक्षा क्षेत्र, बल्कि आतंकवाद से लेकर हिंद

साजिश के तार

पंजाब सुरक्षा को लेकर काफी संवेदनशील राज्य माना जाता है। पाकिस्तान सीमा से सटा होने की वजह से वहां आतंकी गतिविधियों की आशंका लगातार बनी रहती है। इसे लेकर अब चिंता इसलिए बढ़ गई है कि पिछले कुछ दिनों में वहां पुराने अलगाववादी संगठन सक्रिय नजर आए हैं।

रक्षक या भक्षक

इससे बड़ी विडंबना और क्या होगी कि किसी अपराध की कोई पीड़ित मदद और इंसाफ की आस में पुलिस के पास पहुंचे और वहां भी उसे एक त्रासदी का सामना करना पड़े। उत्तर प्रदेश और राजधानी दिल्ली में कुछ पुलिस थानों की ताजा घटनाएं यह बताती हैं कि हमारे देश में जिन्हें

हकीकत और फसाना

भारत सरकार पर कोरोना से हुई मौतों के आंकड़े छिपाने के आरोप लगते रहे हैं। न केवल भारत में, बल्कि दुनिया भर में। इसे लेकर कई विदेशी संगठनों और शोध पत्रिकाओं ने भी अपने अनुमानित आंकड़े प्रकाशित किए, जिसमें मौतों की संख्या सरकार के बताए आंकड़े से कई गुना

उन्माद के इलाके

किसी भी सभ्य समाज में उन्माद, हिंसा और विद्वेष की कोई जगह नहीं होती। मगर हमारे यहां पिछले कुछ समय से जिस तरह अलग-अलग शहरों में उन्मादी भीड़ हिंसक घटनाओं को अंजाम देती देखी गई है, उसका कोई स्थायी समाधान निकालने के बजाय राजनीतिक रंग देने की कोशिशें ही

वक्त की जरूरत

महंगाई की रफ्तार थामने के लिए आखिरकार रिजर्व बैंक को अपना सबसे बड़ा हथियार चलाना ही पड़ा। करीब पौने चार साल बाद बुधवार को रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने रेपो दर 0.40 फीसद बढ़ाते हुए 4.40 फीसद कर दी। चौंकाने वाली बात यह है कि एमपीसी की य

हादसे की उड़ान

हवाई सेवाओं में जरा भी चूक सैकड़ों लोगों के लिए जानलेवा साबित हो सकती है। इसलिए हवाई जहाज उड़ाने वालों की कुशलता का विशेष ध्यान रखा जाता है। बदलती तकनीक के मुताबिक उन्हें प्रशिक्षित भी किया जाता है। मगर कुछ दशक से जिस तरह विमानन सेवा के क्षेत्र में न

रिश्तों की कूटनीति

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जर्मनी, डेनमार्क और फ्रांस जैसे यूरोपीय देशों का दौरा तेजी से बदल रही वैश्विक राजनीति में भारत की बढ़ती अहमियत को रेखांकित करता है। यह यात्रा महत्त्वपूर्ण इसलिए भी है कि रूस-यूक्रेन युद्ध की वजह से दुनिया में खेमेबाजी बढ़

आतंक का रास्ता

कश्मीर और पंजाब में अशांति फैलाने के लिए पाकिस्तानी खुफिया एजंसी आइएसआइ की भूमिका किसी से छिपी नहीं है। इस स्थापित तथ्य से इनकार नहीं किया जा सकता कि भारत में आतंकवाद फैलाने के लिए आइएसआइ भाड़े के आंतकियों को प्रशिक्षण से लेकर हथियार तक देती आई है औ

उन्माद के सिपाही

अजीब दौर है यह। उन्माद फैला कर समाज में शांतिभंग कर देना जैसे कुछ लोगों का शगल बनता गया है। पटियाला का हिंसक संघर्ष इसका नया उदाहरण है। कुछ लोगों ने ‘खालिस्तान के स्थापना दिवस’ पर ‘सिख फार जस्टिस’ के बैनर तले जुलूस निकालने की योजना बनाई थी। इसके वि

कब्जे का विस्तार

अवैध कालोनियों की यह दास्तान सिर्फ दिल्ली तक सीमित नहीं है। लखनऊ में सभी अवैध भवन निर्माता खुलेआम विज्ञापन देकर अपनी योजनाओं का प्रचार कर रहे हैं। मुश्किल यह भी है कि नगर निगम एलडीए की किसी कालोनी का अधिग्रहण तभी करता है, जब उसके आसपास की निजी काल

अमन का रास्ता

भारत और पाकिस्तान के बीच अमन बहाली को लेकर बातचीत का सिलसिला लंबे समय से रुका हुआ है। भारत ने नीति-सी बना ली है कि जब तक पाक समर्थित आतंकवाद पर लगाम नहीं लगती, तब तक पाकिस्तान से बातचीत का सिलसिला शुरू नहीं होगा। यह बात अनेक मौकों पर दुहराई जा चुकी

हादसे की यात्रा

तमिलनाडु के तंजावुर में एक धार्मिक यात्रा के दौरान जिस तरह का हादसा हुआ, उसने एक बार फिर यही दर्शाया है कि किसी समारोह या उत्सव का आयोजन तो कर लिया जाता है, मगर न तो उसके आयोजकों को सावधानी बरतने की जरूरत लगती है और न ही प्रशासन इसके लिए सजग रहता ह

आचरण में पारदर्शिता

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि प्रदेश के सभी मंत्री और अधिकारी अपनी और अपने परिजनों की चल-अचल संपत्ति का ब्योरा दें, जिसे सरकारी पोर्टल पर सार्वजनिक किया जाए। साथ ही उन्होंने कहा कि मंत्री और अधिकारी अपने परिजनों क

अवैध की रिहाइश

एक बार फिर शहरों में जगह-जगह उग आई अवैध कालोनियों को लेकर चर्चा गरम है। दिल्ली में कुछ अवैध निर्माण पिछले दिनों ढहाए गए, कुछ और जगहों पर गिराए जाने हैं। इसी कड़ी में सरोजिनी नगर इलाके में बनी दो सौ अवैध झुग्गियों को हटाने का आदेश दिया गया था। मगर एक

मेहनताने से वंचित

देश के ग्रामीण इलाकों में लोगों की आजीविका की सुरक्षा के लिए जब मनरेगा यानी महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम लागू किया गया था, तब उसका मकसद साफ था। शहर केंद्रित रोजगार के विकेंद्रीकरण के समांतर गांवों में रहने वाले लोगों को स्थ

संकट की बिजली

हर साल की तरह इस बार भी देश में बिजली का संकट गहराने लगा है। कई राज्य बिजली की भारी कमी से जूझ रहे हैं। रोजाना आठ-दस घंटे की बिजली कटौती हो रही है। सिर्फ घरों को ही नहीं, उद्योगों तक को बिजली नहीं मिल रही। बिजली के बिना किसान भी खेतों में काम नहीं

हादसों के वाहन

शहरों में बढ़ते प्रदूषण और र्इंधन की किल्लत के मद्देनजर बैट्री से चलने वाले यानी इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा दिया जा रहा है। सरकारें इनकी खरीद पर अनुदान, छूट वगैरह भी दे रही हैं। अब तो महानगरों में बैट्री चालित भाड़े की टैक्सियां भी चलने लगी हैं। इस त

रिश्तों के आयाम

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जानसन की भारत यात्रा दोनों देशों के बीच रिश्तों को नया आयाम देने की दिशा में किसी महत्त्वपूर्ण कदम से कम नहीं है। दोनों देश एक दूसरे के लिए कितने मददगार और उपयोगी हैं, यह बात जानसन की इस यात्रा से रेखांकित हुई है। शुक्

कांग्रेस का जीवन

यह जगजाहिर है कि राष्ट्रीय राजनीति में पिछले कुछ सालों से कांग्रेस मुश्किल स्थिति से गुजर रही है। फिलहाल हालत यह है कि अगर किसी चुनाव क्षेत्र में कांग्रेस को जीत या उत्साहजनक नतीजे मिलते हैं, तो उसे पार्टी के लिए विशेष महत्त्व का माना जाने लगा है।

सत्ता की डोर

अभी कुछ दिनों पहले जब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पंजाब सरकार के कुछ अधिकारियों की बैठक ली, तो विपक्ष ने खुल कर उन पर निशाना साधा। लगा कि वे उससे कुछ सबक लेंगे और वहां की चुनी हुई सरकार और मुख्यमंत्री को अपने ढंग से काम करने देंगे। मगर

शिक्षा की उड़ान


काफी समय से उच्च शिक्षण संस्थानों में बेहतरी और कौशल विकास संबंधी नए पाठ्यक्रमों को जोड़ने की सिफारिश की जाती रही है। मगर धन की कमी आदि के चलते इसके लिए संसाधन जुटाना संस्थानों के सामने एक बड़ी चुनौती रही है। हालांकि इस समस्या से पार पाने के लिए

जुर्म बनाम जमानत

जमानत जैसे मामलों में कम ही ऐसा होता है कि किसी उच्च न्यायालय के फैसले को सर्वोच्च न्यायालय रद्द कर दे। मगर लखीमपुर खीरी मामले में आशीष मिश्रा की जमानत को इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को सर्वोच्च न्यायालय ने पलट दिया। अदालत को फिर से उस पर सुनवाई करन

महंगाई का रुख

खुदरा महंगाई के बाद अब थोक महंगाई में बढ़ोतरी ने सरकार के माथे पर चिंता की लकीर गहरी कर दी है। ताजा आंकड़ों के मुताबिक थोक महंगाई 14.55 फीसद पर पहुंच गई है। यह दर चार महीने के सबसे ऊंचे स्तर पर बताई जा रही है। पिछले एक साल से महंगाई की दर चौदह फीसद स

मुकदमों का बोझ

भारतीय अदालतों में न्यायाधीशों की कमी के चलते मुकदमों के लंबे समय तक खिंचते जाने और मुकदमों का बोझ लगातार बढ़ते जाने की शिकायत पुरानी है। इसे लेकर कई प्रधान न्यायाधीश अपनी पीड़ा जाहिर कर चुके हैं। एक प्रधान न्यायाधीश की आंखों से तो सेवानिवृत्ति के मौ

Subscribe US Now