कानपुर के इन सात स्कूलों को मिली बम से उड़ाने की धमकी, यूपी पुलिस ने बताया अफवाह

4 1 7
Read Time5 Minute, 17 Second

देश के अलग-अलग राज्यों के कई शहरों के स्कूलों को बम की धमकी मिलने का सिलसिला लगातार जारी है. पहले दिल्ली-एनसीआर, फिर जयपुर और अब कानपुर में सात स्कूलों को बम धमाके से जुड़े ईमेल भेजे गए हैं. हालांकि, पुलिस ने इसे अफवाह बताया है, लेकिन जांच की जा रही है.

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (कानून एवं व्यवस्था) हरीश चंद्र ने बताया कि ज्यादातर स्कूलों को जब इस खतरे की जानकारी मिली तो उन्होंने मंगलवार को इसकी सूचना पुलिस को दी. स्कूल रविवार और सोमवार को बंद थे. पिछले 72 घंटों में 5 निजी और 2 सरकारी स्कूलों को ईमेल के जरिए धमकी मिली है.

उन्होंने बताया कि जिन स्कूलों को धमकी मिली है, उनमें हनुमंत विहार का गुलमोहर विहार पब्लिक स्कूल, गुजैनी का केडीएमए स्कूल, कौशलपुरी का सनातन धर्म एजुकेशन सेंटर, सिंहपुर कछार का चिंटल स्कूल, सिविल लाइंस का वीरेंद्र स्वरूप स्कूल, कैंट और अर्मापुर का केंद्रीय विद्यालय शामिल हैं.

एसीपी ने कहा कि बम की धमकी की सूचना मिलने के बाद प्रारंभिक जांच में यह पाया गया कि धमकियां अफवाह थीं. साइबर सेल के अधिकारियों को सतर्क कर दिया गया है. इस मामले में एफआईआर दर्ज करने के बाद मामले की जांच शुरू करने के निर्देश भी जारी किए गए हैं.

Advertisement

उन्होंने कहा, "हम लखनऊ, बेंगलुरु, जयपुर और दिल्ली-एनसीआर के स्कूलों को मिलने वाली फर्जी बम धमकियों के बीच पैटर्न का पता लगाने की भी कोशिश कर रहे हैं. इस महीने की शुरुआत में यहां के स्कूलों में इसी तरह से ईमेल भेजकर बम से उड़ाने की धमकियां दी गई थीं.''

इससे पहले यूपी की राजधानी लखनऊ के तीन स्कूलों स्कूल को बम से उड़ाने की धमकी मिली थी. बताया गया कि सुबह-सुबह बच्चे स्कूल पहुंच रहे थे, तभी अचानक स्कूल मैनेजमेंट को स्कूल को बम से उड़ाने की सूचना मिली. इसके बाद मैनेजमेंट ने आनन-फानन में पुलिस को सूचना दी.

स्कूल प्रशासन ने तुरंत बच्चों को घर भेज दिया. स्कूल बंद करके पूरे परिसर की चेकिंग करवाई गई. लेकिन कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला. इस दौरान पैरेंट्स को स्कूल की तरफ से मैसेज भेजा गया था, ''हम आपको सूचित करना चाहेंगे कि स्कूल में बम की धमकी के कारण आपसे अनुरोध है कि आप अपने बच्चे को यथाशीघ्र स्कूल से लेकर जाएं. कृपया अपना वाहक कार्ड साथ रखें. छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए आज स्कूल बंद किया जा रहा है.''

बताते चलें कि दिल्ली-एनसीआर के 10 अस्पतालों को भी धमकी भरे ईमेल भेजे गए थे. इसमें अस्पतालों को बम से उड़ाने की धमकी दी गई थी. दिल्ली फायर सर्विस के मुताबिक, उन्हें दो अस्पतालों से फोन आए, पहला बुराड़ी सरकारी अस्पताल से और दूसरा मंगोलपुरी के संजय गांधी अस्पताल.

\\\"स्वर्णिम
+91 120 4319808|9470846577

स्वर्णिम भारत न्यूज़ हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा (जन्म 1968) स्वर्णिम भारत के संस्थापक-प्रकाशक , प्रधान संपादक और मेन्टम सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Laptops | Up to 40% off

अगली खबर

Himachal News: वाइब्रेंट विलेज योजना से आस, चीन से सटे गांवों का तेजी से होगा विकास; फिर से बसेगा कौरिक

हंसराज सैनी, मंडी। हिमाचल प्रदेश के मंडी संसदीय क्षेत्र के दो जनजातीय जिले लाहुल-स्पीति व किन्नौर अब खामोश नहीं हैं। सीमांत गांवों में सन्नाटा नहीं है। अब वहां चीन का नहीं, भारत का मोबाइल नेटवर्क चलता है।

आपके पसंद का न्यूज

Subscribe US Now