NEET रिजल्ट पर NTA के खिलाफ सड़कों पर उतरे तमाम छात्र संगठन, आक्रोश‍ित छात्रों ने की ये मांग

4 1 19
Read Time5 Minute, 17 Second

NEET UG 2024:नीट यूजी परीक्षा 2024 को लेकर मेडिकल फील्ड में हंगामा मचा हुआ है. छात्रों का आरोप है कि अंडर ग्रेजुएट प्रवेश परीक्षा में एजेंसी द्वारा धांधली की गई है. एनटीए के विरोध में सभी छात्र संगठन प्रदर्शन कर रहे हैं, उनकी मांग है कि एग्जाम को निष्पक्षता से दोबारा कराया जाए. इस मामले में राजनीति भी जमकर हो रही है. कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दल नीट यूजी 2024 के मामले में सरकार पर हमलावर हो गए हैं. उन्हीं का अनुसरण करते हुए कांग्रेस से जुड़ाछात्र संगठन एनएसयूआई भी इसका जमकर विरोध कर रहा है. यही नहीं, बीजेपी की छात्र शाखा एबीवीपी भी इस मामले में सीबीआई जांच की मांग कर रही है.

संगठनों के खिलाफ प्रदर्शन जारी

राजधानी दिल्ली में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP), नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया (NSUI), स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (SFI) छात्रों का प्रदर्शन जारी है. एबीवीपी के राष्ट्रीय मीडिया संयोजकआशुतोष सिंह ने बताया किनीट-यूजी परीक्षा में अनियमितता की सीबीआई जॉंच की मांग को लेकर एबीवीपी का आंदोलन तेज हो गया है.आज दिल्ली, मुंबई, पुणे, लखनऊ सहित देशभर के सैकड़ों जिलों में नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के विरोध में एबीवीपी का प्रदर्शन हुआ.

नीट यूजी उम्मीदवारों के लिए विरोध प्रदर्शन करने के लिए दिल्ली में एनटीए कार्यालयों के बाहर सैकड़ों एबीवीपी कार्यकर्ता एकत्र हुए हैं. हाथ में बैनर और ''न्याय'' दो के नारे लगाए जा रहेहैं. वहीं, दूसरी ओर राजधानी दिल्ली में शिक्षा मंत्रालय के बाहर स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) छात्र एनटीए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं.

Advertisement

नीट कैंडिडेट की मां ने कही ये बात

भारत के विभिन्न कोनों से अभिभावक भी नतीजों के बारे में पूछताछ करने आए हैं. छात्रों ने आरोप लगाया कि उत्तर कुंजी के अनुसार उनके अंक अधिक हैं, लेकिन अंतिम परिणामों में अंक कम हैं. कुछ अभिभावकों ने यह भी आरोप लगाया कि पोर्टल पर अपलोड करने के बाद एनटीए ने परिणाम बदल दिया और अब एनटीए कोई जवाब नहीं दे रहा है. अभिभावकों में से एक ने यह भी कहा कि वे एनटीए के खिलाफ गुजरात उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाएंगे. एक मां ने रोते हुए कहा कि एनटीए के भ्रष्टाचार के कारण न केवल छात्र प्रभावित होते हैं, बल्कि माता-पिता भी पीड़ित होते हैं.

\\\"स्वर्णिम
+91 120 4319808|9470846577

स्वर्णिम भारत न्यूज़ हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा (जन्म 1968) स्वर्णिम भारत के संस्थापक-प्रकाशक , प्रधान संपादक और मेन्टम सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Laptops | Up to 40% off

अगली खबर

Himachal Crime: सुसाइड या हत्या? पुलिस थाने में दुष्कर्म के आरोपी ने निगला जहर, परिजनों ने मौत पर उठाए सवाल

स्वर्णिम भारत न्यूज़ टीम, सुंदरनगर/नेरचौक।महिला से दुष्कर्म और जान से मारने की धमकी देने के आरोपित की सुंदरनगर थाना की हवालात में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। मौत का कारण जहरीला पदार्थ निगलना बताया जा रहा है। इस मामले की न्यायिक जांच करवाई

आपके पसंद का न्यूज

Subscribe US Now