IPL 2024 Playoffs Scenario- दिल्ली की जीत से राजस्थान रॉयल्स को म‍िला IPL प्लेऑफ का टिकट, जानें कैसे हुआ ऐसा, अब ये है ताजा समीकरण

4 1 12
Read Time5 Minute, 17 Second

Rajasthan Royals qualify for IPL 2024 Playoffs: इंड‍ियन प्रीम‍ियर लीग (IPL) 2024 में 14 मई को अरुण जेटली स्टेडियम में लखनऊ सुपर जायंट्स (LSG) और राजस्थान रॉयल्स (RR) के बीच मुकाबला खेला गया. द‍िल्ली ने IPL 2024 केइस आख‍िरी लीग मैच में 19 रनों से LSG को रौंदा. द‍िल्ली की इस जीत से लखनऊ सुपर जायंट्स की प्लेऑफ की उम्मीदें . गभग खत्म हो गईं, वहीं ऋषभ पंत एंड कंपनी की प्लेऑफ की रेस में आ गई है. वहीं खास बात यह रही कि दिल्ली की इस एक जीत से सबसे बड़ा राजस्थान रॉयल्स को हुआ. राजस्थान ने प्लेऑफ के ल‍िए क्वाल‍िफाई कर ल‍िया है.

राजस्थान रॉयल्स की टीम आईपीएल की प्वाइंट्स टेबल में काफी दिनों से 16 अंकों पर रुकी थी. संजू सैमसन एंड कंपनी ने अपने पिछले तीनों मैच गंवाएथे,इस कारण वह आईपीएल प्लेऑफ के लिए क्वाल‍िफाई नहीं कर पा रही थी.

14 मई को हुए मुकाबले से अब राजस्थान रॉयल्स को बड़ा फायदा हुआ, क्योंकि दिल्ली की जीत और लखनऊ की हार से अब राजस्थान रॉयल्स ने क्ववाल‍िफाई कर लिया. वहीं प्वाइंट्स टेबल में 14 अंक के साथ दिल्ली की टीम अब पांचवें नंबर पर पहुंच गई है. उसे प्लेऑफ में पहुंचने के लिए सनराइजर्स हैदराबाद (SRH), चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) और लखनऊ टीम की हार की दुआ करनी होगी.अपने अंतिम लीग गेम में हार के बाद, एलएसजी प्ले-ऑफ की दौड़ से लगभग बाहर है. दिल्ली की जीत से राजस्थान रॉयल्स प्ले-ऑफ में पहुंचने वाली दूसरी टीम बन गई.

Advertisement

राजस्थान रॉयल्स फिलहाल अंक तालिका में कोलकाता नाइट राइडर्स के बाद दूसरे स्थान पर है, जो इस सीजन के प्लेऑफ में जगह बनाने वाली पहली टीम रही. केकेआर के 13 मैचों में 19 अंक हैं, जबकि राजस्थान रॉयल्स के 12 में से 16 अंक हैं.चूंकि 18 प्वाइंट्स होते ही कोई भी टीम शर्तिया आईपीएल प्लेऑफ के लिए क्वालिफाईकर सकती थी, इसी कारण कोलकाता नाइट राइडर्स ने क्वालिफाई किया था.

IPL
राजस्थान ने प्लेऑफ के ल‍िएक्वालिफाई कर ल‍िया है

राजस्थान ने कैसे किया क्वालिफाई

दरअसल, दिल्ली बनाम लखनऊ मैच के रिजल्ट का मतलब है कि इस सीजनमें अब अधिकतम चार टीमें ही 16 या अधिक अंक हासिल कर सकती हैं, जिसमें दो कोलकाता नाइट राइडर्स और राजस्थान रॉयल्स शामिल है. चेन्नई सुपर किंग्स और सनराइजर्स हैदराबाद अन्य दो टीमें हैं. रॉयल्स को इस सीजन में दो और मैच खेलने हैं, दोनों मैच गुवाहाटी के एसीए स्टेडियम में हैं, जो उनका दूसरा घरेलू मैदान है. लेकिन दोनों मैचों के रिजल्ट से राजस्थान पर कोई असर नहीं पड़ेगा. आज (15 मई) राजस्थान का मुकाबला पंजाब से तो 19 मई को कोलकाता नाइट राइडर्स से है.

राजस्थान के ल‍िए यह छठी बार और तीन सीजन में दूसरा अवसर है, जब वो आईपीएल प्लेऑफ में पहुंचीहै. आईपीएल 2022 में संजू सैमसन एंड कंपनी ने फाइनल में जगह बनाई थी.

Advertisement

टॉप दो टीमें क्वालिफायर-1 में खेलेंगी, जिसकीविजेता सीधे फाइनल में पहुंचेगी. तीसरे और चौथे स्थान पर रहने वाली टीमें एलिमिनेटर में खेलेंगी. इस मैच कीविजेता टीम फाइनल में जगह बनाने के लिए क्वालिफायर-1 की हारी हुई टीमसे क्वालिफायर-2 में भिड़ेगी. इस प्रकारक्वल‍िफायर-1 और क्वालिफायर-2मैचों कीविजेता 26 मई को फाइनल में खेलेगी.

दिल्ली कैप‍िटल्सऔर लखनऊ के मैच में क्या हुआ?

दिल्ली कैपिटल्स ने अभिषेक पोरेल और ट्रिस्टन स्टब्स के शानदार अर्धशतकों के साथ ही ईशांत शर्मा की शानदार गेंदबाजी की बदौलत अपने अंतिम लीग मैच में लखनऊ सुपर जायंट्स पर 19 रनों से जीत के साथ अपनी आईपीएल के प्ले-ऑफ की उम्मीदों को जीवित रखा है.

दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में 14 मई को हुए मुकाबले में पोरेल (33 गेंदों पर 58) और शाई होप (27 गेंदों पर 38) ने 49 गेंदों पर 92 रनों की पार्टनरश‍िप कर मेजबान टीम को विस्फोटक शुरुआत दी. ट्रिस्टन स्टब्स (25 गेंदों पर नाबाद 57) और ऋषभ पंत (33) और अक्षर पटेल (नाबाद 14) के साथ 47 और 50 रन जोड़कर दिल्ली कैप‍िटल्स को 4 विकेट पर 208 रन पर पहुंचा दिया.

\\\"स्वर्णिम
+91 120 4319808|9470846577

स्वर्णिम भारत न्यूज़ हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा (जन्म 1968) स्वर्णिम भारत के संस्थापक-प्रकाशक , प्रधान संपादक और मेन्टम सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Laptops | Up to 40% off

अगली खबर

Bengal: 2010 के बाद जारी सभी OBC प्रमाणपत्र HC ने किए रद, ममता बोलीं- हमें मंजूर नहीं ये आदेश; PM ने कहा- कोर्ट का फैसला INDI गठबंधन पर तमाचा

राज्य ब्यूरो, स्वर्णिम भारत न्यूज़, कोलकाता। कलकत्ता हाई कोर्ट बुधवार को वर्ष 2010 के बाद तृणमूल सरकार द्वारा जारी कई वर्गों के अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) प्रमाणपत्र को असंवैधानिक बताते हुए उसे रद कर दिया है। फैसला सुनाए जाने के बाद रद किए गए प्रमा

आपके पसंद का न्यूज

Subscribe US Now