चंद्रबाबू के एक इशारे पर बदल गई कुर्सी, सफेद और पीले रंग में फंसा पेंच, जानें कैसे?

Chandrababu Naidu: चंद्रबाबू नायडू चौथी बार 12 जून को आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं. नायडू सबसे पहली बार सन् 1995 में मुख्यमंत्री बने थे. तब संयुक्त आंध्रप्रदेश था. नायडू संयुक्त आंध्रप्रदेश के दो बार मुख्यमंत्री रहे. लगातार 9 साल के

4 1 12
Read Time5 Minute, 17 Second

Chandrababu Naidu: चंद्रबाबू नायडू चौथी बार 12 जून को आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं. नायडू सबसे पहली बार सन् 1995 में मुख्यमंत्री बने थे. तब संयुक्त आंध्रप्रदेश था. नायडू संयुक्त आंध्रप्रदेश के दो बार मुख्यमंत्री रहे. लगातार 9 साल के बाद उनका कार्यकाल साल 2004 में खत्म हुआ था. नायडू तीसरी बार आंध्र प्रदेश के विभाजन के बाद मुख्यमंत्री बने. वह साल 2014 में विभाजित आंध्र प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री बने और 2019 तक पद रहे.

बुधवार को लेंगे शपथ, टीडीपी को प्रचंड बहुमत आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनाव में तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) को प्रचंड जीत मिली है. टीडीपी इस बार जनसेना और बीजेपी के साथ मिलकर चुनाव लड़ी थी. एनडीए गठबंधन ने यहां विधानसभा और लोकसभा दोनों का चुनाव लड़ा था. टीडीपी ने यहां 135 सीटों पर जीत दर्ज की है.

मंगलवार को कुर्सी का हुआ मामला मंगलवार को तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) विधायक दल की बैठक हुई, जिसमें एन चंद्रबाबू नायडू को नेता चुना गया उसके बाद विजयवाड़ा में एनडीए के सीएम उम्मीदवार के तौर पर नायडू के नाम पर सभी विधायकों ने सर्वसम्मति से मोहर लगा दी. जनसेना विधायक दल की बैठक में पवन कल्याण को जनसेना विधायक दल का नेता चुना गया है. जब विजयवाड़ा में विधायक दल की चल रही थी, इसी में एक अलग ही नजारा देखने को मिला.

नायडू ने बदलवा दी कुर्सी जनसेना के अध्यक्ष पवन कल्याण और आंध्र प्रदेश भाजपा की अध्यक्ष डी. पुरंदेश्वरी एनडीए विधायक दल की बैठक में पहुंचे थे. मंच पर पवन कल्याण और डी. पुरंदेश्वरी पहले से कुर्सी पर बैठे थे. एनडीए विधायक दल की बैठक में चंद्रबाबू नायडू जैसे ही मंच पर पहुंचे और सबका अभिवादन स्वीकार किया तो उनकी नजर उस कुर्सी पर पड़ी जो उनके बैठने के लिए लगाई गई थी.

सफेद और पीले रंग की थी कुर्सी मंच पर उनके लिए रखी गई कुर्सी खास नजर आ रही थी जो पीले रंग के कपड़े से ढकी थी, जबकि पवन कल्याण और डी. पुरंदेश्वरी जिस कुर्सी पर बैठे थे उन कुर्सी पर सफेद रंग का कपड़ा था. चंद्रबाबू नायडू ने यह देखते ही अपने पीछे मंच पर खड़े लोगों को इशारा किया और कुर्सी बदलने का संकेत दिया. इसके बाद उनके लिए रखी गई कुर्सी बदली गई और उन्हें भी उसी तरह की कुर्सी बैठने के लिए दी गई जिस तरह की कुर्सी पर पवन कल्याण और डी. पुरंदेश्वरी बैठे थे. नायडू ने इस तरह पूरे प्रदेश की जनता को साफ संदेश दे दिया कि हमारे गठबंधन में कोई छोटा-बड़ा नहीं है, इस बार सरकार बनाने में पवन कल्याण का बहुत योगदान है.

पवन कल्याण की पार्टी ने रचा है इतिहास, बनेंगे ‌उपमुख्यमंत्री लोकसभा और विधानसभा चुनाव 2024 में अपनी राजनीतिक पार्टी जनसेना पार्टी से बड़ी जीत दर्ज कर साउथ फिल्म इंडस्ट्री के 'पावर स्टार' पवन कल्याण अब आंध्र प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं. ऐसा कि सूत्र अभी बता रहे हैं.

पवन कल्याण को जनसेना विधायक दल का नेता चुना गया है. आज 11 जून को मंगलगिरी स्थित पार्टी मुख्यालय में जनसेना विधायक दल की बैठक हुई थी. इसके बाद से अब कंफर्म हो गया है कि चंद्रबाबू नायडू आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री तो वहीं पवन कल्याण राज्य के डिप्टी सीएम के पद की शपथ लेंगे.

100 फीसदी पवन की पार्टी का रहा रिजल्ट लोकसभा चुनाव 2024 में जनसेना पार्टी ने 2 सीटों पर चुनाव लड़ा और जीत हासिल की. वहीं, आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनाव 2024 में जनसेना पार्टी ने 21 सीटों पर जीत हासिल की है, जिसमें 135 सीटें चंद्रबाबू नायडु की तेलुगू देशम पार्टी ने जीती हैं. अब चंद्रबाबू नायडू आंध्र प्रदेश के नए मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं. टीडीपी, जनसेना पार्टी और भाजपा मिलकर चुनाव लड़ा और जगन मोहन रेड्डी की पार्टी वाईएसआरसीपी को बड़े अंतर से हराया. वाईएसआरसीपी को विधानसभा चुनाव 2024 में सिर्फ 11 सीटों पर जीत मिली है.

स्वर्णिम भारत न्यूज़ हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.

मनोज शर्मा

मनोज शर्मा (जन्म 1968) स्वर्णिम भारत के संस्थापक-प्रकाशक , प्रधान संपादक और मेन्टम सॉफ्टवेयर प्राइवेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Laptops | Up to 40% off

अगली खबर

Himachal Crime: सुसाइड या हत्या? पुलिस थाने में दुष्कर्म के आरोपी ने निगला जहर, परिजनों ने मौत पर उठाए सवाल

स्वर्णिम भारत न्यूज़ टीम, सुंदरनगर/नेरचौक।महिला से दुष्कर्म और जान से मारने की धमकी देने के आरोपित की सुंदरनगर थाना की हवालात में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। मौत का कारण जहरीला पदार्थ निगलना बताया जा रहा है। इस मामले की न्यायिक जांच करवाई

आपके पसंद का न्यूज

Subscribe US Now